नवजात शिशु मौत का मामलाः सीएचएल एमडी अस्पताल संचालक सहित 22 पर प्रकरण दर्ज

नवजात शिशु मौत का मामलाः सीएचएल एमडी अस्पताल संचालक सहित 22 पर प्रकरण दर्ज
case-of-newborn-death-case-registered-on-22-including-chl-md-hospital-operator

राजगढ़,22 मई (हि.स.)। जिला राजगढ़ में खुजनेर रोड़ पर संचालित सीएचएल एमडी अस्पताल एवं ट्रामा सेंटर के मामले में कलेक्टर द्वारा गठित संयुक्त जांच दल के प्रतिवेदन पर राजगढ़ कोतवाली थाना पुलिस ने शनिवार को अस्पताल संचालक, डाॅक्टर सहित 22 लोगों के खिलाफ प्रकरण पंजीबद्व किया है। बिना अनुमति अस्पताल संचालित कर लोगों की जान से खिलवाड़ करने के संबंध में कलेक्टर नीरजकुमारसिंह ने शिकायत पर जिला स्तरीय टीम गठित की, जिसके द्वारा औचक निरीक्षण किया, जिसमें अनियमितताएं परिलक्षित हुई, जिस पर टीम द्वारा अस्पताल को सील किया गया। राजगढ़ एसडीएम पल्लवी वैध द्वारा मय जांच के राजगढ़ कोतवाली थाना में आवेदन दिया गया, जिस पर पुलिस ने सीएचएल एमडी अस्पताल के पार्टनर विनोद शर्मा, साहिलउद्दीन, तनवीर वारसी द्वारा अवैध,अनाधिकृत रुप से अस्पताल संचालित करने, अवैध तरीके से इलाज करने के संबंध में केस दर्ज किया गया साथ ही दवा विक्रेता, दवा दुकान के संचालक, फार्मासिस्ट के खिलाफ कार्रवाई की गई। कलेक्टर द्वारा गठित टीम के द्वारा जांच की गई जिसमें बिना किसी वैध अनुमति के अस्पताल का संचालन कर लापरवाही व उपेक्षापूर्ण तरीके से मरीजों का इलाज कर जीवन से खिलवाड़ किया जाना पाया गया। विगत एक माह में 4-5 बच्चों की प्रसव के दौरान मृत्यु होना पाया गया। अस्पताल प्रबंधन द्वारा भ्रामक जानकारी देकर नर्सिंग होम की अनुमति प्राप्त करने का प्रयास किया गया, अस्पताल में बुनियादी सुबिधाओं का आभाव, अवैध रुप से शासकीय संपत्ति का उपयोग, मरीजों से अधिक राशि लेना, मरीजों को पावती न देना, अवैध तरीके दुकान का संचालन, बायोमेडिकल वेस्ट का उचित प्रबंध नहीं किया जाना, जन्म-मृत्यु का रिकाॅर्ड नहीं किया जाना पाया गया। पुलिस ने जांच प्रतिवेदन के आधार पर अस्पताल संचालक सहित 22 लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है, जिनमें विनोद पुत्र देवदत्त शर्मा, साहिलउद्दीन पुत्र समसुद्दीन, तनवीर वारसी पुत्र इजाज हुसैन, रीना, अरुण पुत्र मोहरसिंह, पूजा, अनंत कुरैशी, रुपेश, कृष्णा, विशाल बाल्मीकि, देवराज दांगी, विवेक शर्मा, विक्रम, संजना, अनुष्का, मुकेश, विशाल, ईश्वरसिंह, रामकैलाश, दाई पार्वतीबाई, माही और आसिफ शामिल है। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ धारा 177, 186, 269, 188, 304, 336, 417, 369, 120 बी, मप्र.उपचार्य गृह तथा रजोपचार्य संबंधी स्थापनाएं अधिनियम 1973 संसोधन अधिनियम 2008 की धारा 10, जन्म-मृत्यु अधिकरण अधिनियम 1969 की धारा 4, मप्र.मेडीकल काउंसलिंग एक्ट 1987, ड्रग काॅस्मेटिक एक्ट 1972 संशोधित अधिनियम 2016 की धारा 13 के तहत प्रकरण दर्ज किया। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा द्वारा टीम का गठन किया गया है। आरोपितों पर इनाम घोषित कर तीव्र वैधानिक कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ मनोज पाठक

अन्य खबरें

No stories found.