कोरोना से लडऩे हर वर्ग के साथ खड़ी है भाजपा सरकार: गोविंद सिंह राजपूत

कोरोना से लडऩे हर वर्ग के साथ खड़ी है भाजपा सरकार: गोविंद सिंह राजपूत
bjp-government-is-standing-with-every-class-fighting-with-corona-govind-singh-rajput

भोपाल, 22 मई (हि.स.)। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण के बाद जिनकी मृत्यु हुई है उनको 100000 रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की गई। जिसका स्वागत एवं मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि मध्यप्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान प्रदेश की जनता को लेकर बहुत ही संवेदनशील है। उन्होंने कोरोनाकाल में हर वर्ग की चिंता करते हुए यथा संभव हर वर्ग की मदद की है। कोरोना काल में अनेक योजनाओं के माध्यम से सभी वर्गों की सहायता प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा की गई है। श्री राजपूत ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा उन बच्चों के लिए 5000 रुपये प्रति माह की सहायता दी गई है, जिनके माता-पिता की मृत्यु कोरोना के कारण हुई है। इतना ही नहीं इन बच्चों की शिक्षा का ध्यान भी सरकार रखेगी, इन बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा तथा राशन की व्यवस्था भाजपा सरकार द्वारा की जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रदेश में समस्त शासकीय कर्मचारियों की तथा उनके परिवार की चिंता करते हुए यह योजना बनाई गई थी। अगर किसी शासकीय कर्मचारी की कोरोना संक्रमण से मृत्यु हो जाती है तो ऐसी स्थिति में उस कर्मचारी के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति तथा पांच लाख की अनुग्रह राशि दी जाएगी। गरीब नि:शक्त व्यक्तियों के लिए आयुष्मान भारत योजना के तहत पांच लाख तक का मुफ्त इलाज निजी चिकित्सालय में करवाने की योजना बनाई गई, जिसमें अब आयुष्मान कार्ड धारक कोरोना का इलाज निजी अस्पताल में करवा सकते हैं। पत्रकार हो या अधिवक्ता सब की है चिंता मंत्री राजपूत ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान हर वर्ग की चिंता करते हैं। शासकीय कर्मचारियों के अलावा प्रदेश के अधिवक्ताओं तथा पत्रकारों के लिए भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान द्वारा कोरोना काल में योजना बनाई गई है, जिसमें की प्रदेश के अधिवक्ताओं को 25000 तक का इलाज मुफ्त किया जाएगा, अगर वह कोरोना से संक्रमित होते हैं। साथ ही पत्रकारों के लिए कोरोना संक्रमण होने पर उनका नि:शुल्क इलाज किया जाएगा। इतना ही नहीं अगर कोई शासकीय कर्मचारी कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए संलग्न है और यदि सेवा में रहते संक्रमण के पश्चात उसकी मृत्यु हो जाती है तो उसे कोरोना योद्धा माना जाएगा। क्षेत्र में 24 घंटे दौड़ रही एंबुलेंस राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने कहा कि जनता की सेवा के लिए सुरखी विधानसभा क्षेत्र में 24 घंटे एंबुलेंस दौड़ रही है ताकि किसी को भी अस्पताल पहुंचने में देरी ना हो। घर-घर स्वास्थ्य कर्मचारी पहुंचकर जांच कर रहे हैं। पूरे क्षेत्र में आशा कार्यकर्ताओं द्वारा नि:शुल्क दवाई वितरण किया जा रहा है । कोरोना से लडऩे के लिए क्षेत्रवासियों के साथ हमेशा मैं और मेरा परिवार खड़ा है। खुद की कॉलेज को बना दिया कोविड सेंटर जैसीनगर में कोविड सेंटर खोलने के लिए कहीं जगह नहीं मिल रही थी, जिस पर राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने खुद की निजी कॉलेज को ही कोविड सेंटर में तब्दील कर दिया, ताकि क्षेत्र की जनता को इलाज मिल सके। इसके साथ ही मंत्री राजपूत द्वारा राहतगढ़ में 50 बिस्तर का कोविड सेंटर बनाया गया। बिलहरा में भी एक कोविड सेंटर तैयार किया गया है जिसमें नि:शुल्क उपचार के साथ मरीज को भोजन की व्यवस्था है। ऑफिस में खोल दिया कॉल सेंटर क्षेत्रवासियों की कोरोना से लडऩे में मदद करने के लिए राजस्व एवं परिवहन मंत्री ने अपने ऑफिस में ही कॉल सेंटर खोल दिया है। जिसमें क्षेत्रवासी अपने स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को लेकर बात कर सकते हैं तथा उनकी समस्याओं को हल करने के लिए कर्मचारी सलाह देते हैं। इसके अलावा उनके नाम पता लेकर स्वास्थ्य सेवाएं उन तक पहुंचाई जाती हैं। मरीज से करते हैं रोज बात क्षेत्रवासियों से कोरोना संक्रमण के चलते वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग एवं फोन पर राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत लगातार संपर्क में रहते हैं। जो व्यक्ति कोरोना संक्रमित हैं उनसे वीडियो कॉलिंग द्वारा बात करके उनकी समस्याएं सुनी जाती है तथा उनका मनोबल बढ़ाया जाता है। इतना ही नहीं किल कोरोना अभियान के अंतर्गत गांव-गांव पहुंचकर कोरोना के प्रति लोगों को राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत द्वारा जागरूक किया जा रहा है। जरूरतमंदों को 5 माह का नि:शुल्क राशन वितरित कर उन्हें कोरोना गाइडलाइन का पालन करने का आग्रह किया जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा पाण्डेय

अन्य खबरें

No stories found.