बिसौनिया के ग्रामीणों ने रखी शर्त- पहले पानी, फिर टीका

बिसौनिया के ग्रामीणों ने रखी शर्त- पहले पानी, फिर टीका
bisonia-villagers-put-condition---first-water-then-vaccine

गुना, 22 मई (हि.स.) । कुछ जगहों पर लोग बुखार और हरारत आने की बात कह कर वैक्सीन लगवाने से पीछे हट रहे हैं, लेकिन गुना के एक गांव में अलग ही मामला आया है। गुना जिला मुख्यालय से 10 किलोमीटर दूर बिसौनिया गांव में ग्रामीणों ने पानी नहीं मिलने पर कोरोना वैक्सीन का बहिष्कार कर दिया है। ग्रामीणों का कहना है कि पेयजल के लिए दर दर भटकना पड़ रहा है। 2-2 किलोमीटर दूर से पानी भरकर लाना पड़ रहा है। उनका कहना है की जब तक पानी की व्यवस्था नहीं होगी, वे टीका नहीं लगवाएंगे। अभी तक अक्सर चुनावों के दौरान यह बातें सामने आती थी। ग्रामीण और मोहल्ले वाले पानी-बिजली और सडक़ के लिए चुनाव का बहिष्कार कर देते थे। तब चुनाव आयोग और प्रशासन ग्रामीणों से वोट डालने की अपील करता था। संभवत: यह पहला गांव होगा, जो पानी के लिए वैक्सीन का बहिष्कार कर रहा हो। बिसोनिया गांव की आबादी 1 हजार के आसपास है। यहां यादव और सहरिया समुदाय के नागरिक निवास करते हैं। गांव में 3 हैंडपंप हैं। इनमे से दो खराब हो चुके हैं। इनका पानी पूरी तरह सूख चुका है। एक सरकारी ट्यूबवेल है, जिसमें 450 फीट नीचे मोटर डली हुई है। इसका वाटर लेवल भी घट गया है। कई महीनों से मोटर खराब है। फेसिंग भी बोर में ही गिर गयी है। केवल एक हैंडपंप चालू है। उसमें भी काफी देर बाद पानी ऊपर आ पता है। ग्रामीणों ने बताया की अधिकतर गांव के लोग या तो इसी हैंडपंप से पानी भरते हैं या फिर गांव के बाहर बने कुएं से पानी लेकर आते हैं। इस हैंडपंप को भी अगर आधे घंटे चला लिया जाए तो फिर अगले 1-2 घंटे उसे ऐसा ही छोडऩा पड़ता है। तब जाकर दोबारा पानी भरने लायक हो पता है। कई बार इसकी शिकायत कर चुके हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। सरपंच -सचिव को कई बार इस समस्या से अवगत कराया गया , लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक

अन्य खबरें

No stories found.