पेगोलिन तस्करी मामले में भोपाल एसटीएसएफ ने जिले से एक कांग्रेसी सहित 6 संदिग्धों को उठाया
पेगोलिन तस्करी मामले में भोपाल एसटीएसएफ ने जिले से एक कांग्रेसी सहित 6 संदिग्धों को उठाया
मध्य-प्रदेश

पेगोलिन तस्करी मामले में भोपाल एसटीएसएफ ने जिले से एक कांग्रेसी सहित 6 संदिग्धों को उठाया

news

सिवनी, 17 जुलाई (हि.स.)। जिले में भोपाल स्तरीय एसटीएसएफ वन, पुलिस व लोकल के वन अमले की संयुक्त टीम ने शुक्रवार को पेगोलिन तस्करी के मामले में छह संदिग्धों को पूछताछ के लिए पकडा है। इनमें से एक कांग्रेस विधानसभा का अध्यक्ष भी शामिल है। विभागीय सूत्रों के अनुसार गुरुवार को बालाघाट जिले के वन परिक्षेत्र वारासिवनी के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत कोचेवाही से विलुप्त प्रजाति पेंगोलिन को पिछले एक सप्ताह से बेचने के फिराक में घूम रहे एक महिला सहित तीन तस्करों को वन अमले ने खरीददार बनकर गिरफ्तार किया था। इनमें मुख्य आरोपित रजनेश (25) पुत्र कोटूलाल नंदागौली निवासी कोचेवाही, मीना (40) पत्नी रमन प्रसाद नंदागौली निवासी लिंगमारा व अशोक (55) पुत्र नारायण बिसेन निवासी दिनेरा शामिल हैं। इन आरोपितों से पूछताछ में सिवनी जिले से 6 लोगों के नाम मामले में सामने आये, इसके बाद एसटीएसएफ पुलिस, वन व जिले के अमले की संयुक्त टीम ने शुक्रवार दोपहर को बारापत्थर क्षेत्र से सभी छह लोगों को अपनी गिरफ्त में लिया। सूत्रों के अनुसार जब्त किये गये पेंगोलिन की कीमत लगभग 1 करोड़ रुपये है। विभागीय सूत्रों के अनुसार बालाघाट जिले के वन विभाग को सूचना मिलने के तुरंत बाद ही मुख्य आरोपित रजनेश नंदागौली से पेंगोलिन को खरीदने का सौदा किया। उसने इसकी कीमत लगभग 3 लाख 50 हजार रुपये रखी थी। करीब 3 लाख 50 हजार रुपये लेकर कोचेवाही गए और एक बैग में नीचे कागज के टुकड़े और उसके ऊपर नोट रख दिए थे। जिससे उसे लगना चाहिए था कि उस बैग में रुपये ही है। वहां पहुंचने के बाद पहले उससे पेंगोलिन को दिखाने कहा। पेंगोलिन दिखाया तो हमने आरोपित रजनेश को रुपये से भरा बैग पकड़ाया और उसके बाद टीम ने उसे पकड़ लिया। जिसके पास से पेंगोलिन को भी जब्त कर लिया। जिन्होंने पूछताछ में 6 आरोपितों के नाम बताए थे। जिन्हें सिवनी जिले से गिरफ्तार किया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/रवि-hindusthansamachar.in