bhopal-sit-reached-for-investigation-of-nirbhaya-case-recited-scene
bhopal-sit-reached-for-investigation-of-nirbhaya-case-recited-scene
मध्य-प्रदेश

भोपाल: निर्भया केस की जांच के लिए पहुंची एसआईटी, रिक्रिएट किया सीन

news

भोपाल, 21 फरवरी (हि.स.)। निर्भया कांड की जांच एसआईटी ने शुरू कर दी है। वारदात के 37 दिन बाद रविवार दोपहर को टीम घटनास्थल पर पहुंची और सबसे पहले मौका मुआयना करते हुए वारदात को रिक्रिएट किया गया। इस दौरान एफएसएल की टीम ने यह जानने का प्रयास किया कि यह पूरा घटनाक्रम किस तरह हुआ होगा। एसआईटी के प्रमुख सीएसपी भूपेंद्र सिंह ने कोलार थाने पहुंचकर टीआई सुधीर अरजरिया से मामले से जुड़े दस्तावेज लिए। उनसे पूरी घटना और उसके बाद पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई को लेकर सवाल-जवाब भी किए। इस मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी के प्रमुख सीएसपी भूपेंद्रसिंह रविवार को टीम के अन्य अधिकारियों तथा एफएसएल दल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस ने 16 जनवरी की रात करीब 8 बजे हुई घटना को दोहराया। इस दौरान टीम ने घटनास्थल पर लगाए गए शेड भी हटा दिए। पुलिसकर्मियों ने पुलिया के नीचे उतरकर उसकी ऊंचाई से लेकर छात्रा और आरोपी के बीच हुए संघर्ष को जानने का प्रयास किया। पुलिस की मानें तो घटना के वक्त के सीसीटीवी फुटेज में छात्रा और आरोपी सिर्फ पुलिया के नीचे गिरते नजर आ रहे हैं। इसमें यह साफ हो गया कि छात्रा टहलने के बाद वहां से गुजर रही थी, तभी आरोपी ने अचानक हमला कर दिया। उसका मुंह दबाते हुए पुलिया के नीचे फेंक दिया था। इस दौरान छात्रा ने भी बचने के लिए आरोपी को पकड़ लिया था। पुलिया की सड़क से ऊंचाई कम होने के कारण वे दोनों 7 फीट से ज्यादा गहरे गड्ढे में गिर गए। यहीं पर आरोपी ने छात्रा से हैवानियत करने का प्रयास किया था। हालांकि वह राहगीरों के कारण सफल नहीं हो सका था। हिन्दुस्थान समाचार/केशव दुबे

AD
AD