बढ़ते कोरोना संक्रमण से अस्पतालों की व्यवस्था चरमराई, नहीं मिल रहे हैं मरीजों को बेड

बढ़ते कोरोना संक्रमण से अस्पतालों की व्यवस्था चरमराई, नहीं मिल रहे हैं मरीजों को बेड
arrangement-of-hospitals-crumbling-due-to-increasing-corona-infection-patients-are-not-getting-beds

उज्जैन, 14 अप्रैल (हि.स.)। माधव नगर अस्पताल में कोरोना मरीजों को बेड नहीं मिलने और जमीन पर लेटा कर ही उनका इलाज किए जाने का वीडियो वायरल होने के बाद कलेक्टर आशीष सिंह इस मामले में सफाई दी है। कलेक्टर ने साफ किया है कि किसी भी अस्पताल में बेड की कोई कमी नहीं है। लगातार कोरोना संक्रमण को देखते हुए सभी अस्पतालों में अतिरिक्त बेड लगाए जा रहे हैं और स्वास्थ्य सुविधाएं भी बढ़ाई जा रही हैं। माधव नगर अस्पताल में जिन मरीजों को जमीन पर लेटा कर ऑक्सीजन देने और इलाज किए जाने का वीडियो वायरल हो रहा है, वह सही नहीं है। उनके मुताबिक माधव नगर अस्पताल में कई मरीज ऐसे आ रहे हैं जिनका अक्सीजन सैचुरेशन काफी कम होता है, लिहाजा उन्हें ओपीडी के बाद बनाए गये ऑक्सीजन रूम में ऑक्सीजन देनी शुरू कर दी जाती है। जिससे उनकी स्थिति स्टेबल हो सके। इसके बाद उन्हें बेड की उपलब्धता के आधार पर भर्ती किया जाता है। उन्होंने कहा इसे सकारात्मक रूप से देखा जाना चाहिए साथ ही उन्होंने लोगों से अपील की है कि अगर उन्हें कोई भी लक्षण दिखता है तो तुरंत जांच करवाएं ताकि घर पर ही उनका इलाज शुरू किया जा सके। उन्होंने लोगों से अपील की है अपने घर में अपने मन से इलाज शुरू ना करें क्योंकि कई केस ऐसे आ रहे हैं जिससे लोग चार-पांच दिन तक अपने घर पर ही इलाज कराते रहते हैं बाद में माधव नगर या अन्य अस्पताल जाते हैं। तब तक उनकी हालत गंभीर हो जाती है, जिससे उनका उपचार करना और अधिक मुश्किल हो जाता है। ऐसे में रिकवर करने में काफी टाइम लगता है। लिहाजा जैसे ही सर्दी खांसी जुकाम बुखार का कोई भी पहला लक्षण दिखे तुरंत जांच कराएं। हिन्दुस्थान समाचार/ गजेंद्र सिंह तोमर