गेहूं उपार्जन केंद्रों पर गेहूं पास कराने के नाम पर अवैध वसूली के लग रहे हैं आरोप

गेहूं उपार्जन केंद्रों पर गेहूं पास कराने के नाम पर अवैध वसूली के लग रहे हैं आरोप
allegations-of-illegal-collection-are-being-made-in-the-name-of-passing-wheat-to-wheat-procurement-centers

गेहूं उपार्जन केंद्रों पर गेहूं पास कराने के नाम पर अवैध रूप से रुपए लेने के लग रहे है आरोप ? रतलाम,14 अप्रैल (हि.स.)। सूत्रों से प्राप्त जानकारी अनुसार जिले के ग्राम खारुआकलां मेें समर्थन मूल्य पर खरीदी केंद्रों पर गेहूं पास कराने के नाम पर कुछ कर्मचारियों द्वारा किसानों से अवैध रूप से वसूली करने की जानकारी निरंतर सामने आ रही है। कई खरीदी केंद्रों पर किसानों के पंजीयन के नाम पर कुछ व्यापारियों का माल तथाकथित रूप से सांठगांठ कर तोला जा रहा है तो कहीं अन्य प्रकार की धांधली चलने के आरोप लग रहे हैं । नागरिक आपूर्ति विभाग एवं जिम्मेदार विभाग का इस पर कोई अंकुश नहीं होने के कारण ऐसे मामले बढ़ रहे हैं वआरोप प्रत्यारोप लग रहे हैं। स्मरण रहे विगत दिनों गेहूं खरीदी केंद्र ताल पर भी आरोप लग चुके हैं। ताजा मामले में ग्राम दौलतगंजखेड़ा के कृषक गोपाल सिंह परिहार ने आरोप लगाया है कि वे अपनी फसल खांरवाकला समर्थन मूल्य केंद्र पर लेकर गए थे ,जहां पर उनका गेहूं पास नहीं किया गया। किसान का आरोप है कि उसके पास वाले किसान के उससे भी हल्के गेहूं थे, उस किसान का गेहूं तोल लिया गया, तो फिर मेरा क्यों नहीं ? जिस पर उक्त किसान को कुछ लोगों ने बताया कि आप अपना गेहूं तुलवाना चाहते हैं तो गेहूं को पास कराने के 500 दे दो तो गेहूं तौल लिया जाएगा ,परंतु उसने ऐसा नहीं करते हुए अपनी समस्या का वीडियो वायरल कर दिया। जिसके उपरांत संबंधित संस्था द्वारा किसान को कहा गया कि आप गेहूं में कंकर होने से जाली चलना लगाकर गेहूं छनवा दो ,तो आपका गेहूं तुल जाएगा। जिला प्रशासन को इस मामले में संज्ञान लेने की आवश्यकता है ताकि गरीब किसानों का शोषण नहीं हो सके। बताया तो यहां तक जा रहा है कि कतिपय केंद्रों पर अमानक स्तर की गेहूं खरीदी कर तथाकथित रूप से धांधली की जा रही है जो कि जिला प्रशासन के लिए जांच का विषय है। हिंदुस्थान समाचार / शरद जोशी