निजी डाक्टर का वीडियो वायरल होने के बाद हरकत में आया प्रशासन, क्लीनिक सील

निजी डाक्टर का वीडियो वायरल होने के बाद हरकत में आया प्रशासन, क्लीनिक सील
administration-swung-into-action-after-private-doctor39s-video-went-viral-clinic-sealed

अनूपपुर, 20 जून (हि.स.)। बीएमओ कोतमा डॉ. केएल दिवान ने मनेंद्रगढ़ रोड पर स्थित डॉ. अशोक राजपूत के निजी चिकित्सालय को जांच तक के लिए तत्काल प्रभाव से सील कर दिया है। यह कार्रवाई स्वास्थ्य विभाग तथा प्रशासन की संयुक्त टीम के द्वारा शनिवार देर रात की गई। बताया जाता है कि शहडोल मेडिकल कॉलेज में कोरोना संक्रमित इलाज करा रहे कोतमा निवासी युवक ने चिकित्सक पर लापरवाही पूर्वक इलाज करने और कोरोना की जगह टाइफाइड का इलाज करने का आरोप लगाते हुए अपने द्वारा बनाए गए वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया था। इलाज के दौरान युवक की मौत हो गई थी। जिसके बाद हरकत में आए प्रशासन ने जांच और कार्रवाई के निर्देश दिए थे। जिस पर तहसीलदार कोतमा मनीष कुमार शुक्ला, बीएमओ कोतमा डॉ. केएल दिवान सहित पुलिस बल के साथ डॉ. अशोक राजपूत के निजी चिकित्सालय को जांच तक के लिए तत्काल प्रभाव से सील कर दिया है। जिस समय प्रशासन द्वारा यह कार्रवाई की गई उस समय चिकित्सक अपने क्लीनिक पर उपस्थित नहीं था। स्वास्थ्य विभाग अधिकारियों ने नोटिस चस्पा करते हुए सम्बंधितों से दस्तावेज की मांग की है। वायरल वीडियो में युवक ने खुद को कोरोना के लक्षण होने के बावजूद भी निजी क्लीनिक का संचालन करने वाले डॉक्टर डॉ. अशोक राजपूत के द्वारा टाइफाइड बताते हुए इलाज किए जाने की बात कही है। बाद में युवक की हालत बिगडने लगी। परिजनों के द्वारा गंभीर अवस्था में युवक को मेडिकल कॉलेज में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था,लेकिन बाद में उसकी मौत हो गई। जानकारी अनुसार डॉक्टर राजपूत की नेमप्लेट में भूतपूर्व अधिकृत चिकित्सक कोतमा खान भविष्य निधि भारत सरकार लिखा हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ राजेश शुक्ला

अन्य खबरें

No stories found.