98-lakh-embezzlement-in-savings-bank-case-filed-against-assistant-manager
98-lakh-embezzlement-in-savings-bank-case-filed-against-assistant-manager
मध्य-प्रदेश

बचत बैंक में 98 लाख का गबन, सहायक प्रबंधक पर मामला दर्ज

news

गुना, 07 अप्रैल (हि.स.)। जिले के पाखरियापुरा स्थित ग्रामीण बचत बैंक से किसानों के मेहनत की कमाई में हेराफेरी कर दी गई। इस मामले में समिति प्रबंधक के खिलाफ पुलिस ने बुधवार को मामला दर्ज कर लिया है। सहकारिता सोसायटी बचत बैंक सोनेहेड़ा पाखरियापुरा में सैकड़ों किसानों का बचत खाता था, वहीं कई लोग एफडी भी करते थे। लेकिन पिछले कई दिनों से बचत खाते से राशि निकलना बंद हो गई। इससे परेशान ग्राहकों ने कलेक्टर को शिकायत की थी। एफडी कराई गई, लेकिन यह राशि जमा नहीं की गई। इस मामले के जिला सहकारी बैंक ने संज्ञान में लेकर जांच कराई थी। इस दौरान सारी गड़बड़ी उजागर हुई। समिति प्रबंधक ने ही दर्ज कराया मामला इस मामले में पाखरियापुरा स्थित ग्रामीण बैंक के प्रबंधक गोपालबाबू पालीवाल की शिकायत पर निलंबित सहायक प्रबंधक दीपचंद गुप्ता के अमानत में ख्यानत की धारा में मामला दर्ज किया गया है। आरोपित ने अमानतदारों के बैंक खाते से करीब 94 लाख की राशि में गबन किया है। हालांकि आरोपित को पूर्व में ही निलंबित किया जा चुका है। वहीं अब इस मामले में एफआईआर दर्ज की गई है। 25 किसानों की एफडी की राशि में गड़बड़ी पिछले दिनों 25 किसानों ने कलेक्टर को शिकायत की थी। आरोप था कि एफडी की राशि खाते से नहीं निकल रही है जिससे ग्राहक परेशान है। जांच मे पाया गया था कि बैंक की एफडी में लाखों रुपये होना चाहिए थे, सिर्फ 11,713 रुपये ही शेष बचे थे। इस वजह से लोगों की पैसा नहीं निकल रहा था। चांचौड़ा टीआई राकेश गुप्ता का कहना है कि विवेचना में ही सारे तथ्य सामने आएंगे, पता चलेगा कि कितने लोगों के साथ धोखा हुआ है। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक