मैहर में 19 से 21 मार्च तक आयोजित होगा 46वां उस्ताद अलाउद्दीन खां समारोह

मैहर में 19 से 21 मार्च तक आयोजित होगा 46वां उस्ताद अलाउद्दीन खां समारोह
46th-ustad-alauddin-khan-ceremony-to-be-held-in-maihar-from-19-to-21-march

प्रतिदिन रात्रि 8 बजे से शुरू होगी संगीत संध्या सतना, 15 मार्च (हि.स.)। मैहर में प्रतिवर्ष होने वाले ख्यातिलब्ध उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत समारोह इस वर्ष 19 से 21 मार्च तक आयोजित किया जाएगा। जिला प्रशासन, स्थानीय आयोजन समिति मैहर एवं नागरिकों के सहयोग से संस्कृति विभाग और उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत एवं कला अकादमी, मध्यप्रदेश संस्कृति परिषद के संयुक्त आयोजन में तीन दिवसीय समारोह की संगीत संध्या रात्रि 8 बजे से प्रारंभ होगी। कार्यक्रम में सभी नागरिकों का प्रवेश निःशुल्क रहेगा। शास्त्रीय गायन, वादन एवं नृत्य के तीन दिवसीय समारोह में सभी से उपस्थिति का आग्रह किया गया है। जिला प्रशासन द्वारा सोमवार शाम को उस्ताद अलाउद्दीन खां संगीत समारोह का तीन दिवसीय कार्यक्रम जारी किया, जिसके अनुसार, कार्यक्रम का शुभारंभ 19 मार्च को रात्रि 8 बजे स्टेडियम ग्राउंड मैहर में किया जाएगा। संगीत समारोह की प्रतिदिन की संगीत संध्या मैहर वाद्य वृन्द के वादन से होगी। समारोह में देश-विदेश के ख्यातिलब्ध कलाकारों के अलावा स्थानीय स्तर के कलाकारों की प्रस्तुतियां भी होंगी। तीन दिवसीय समारोह के निर्धारित कार्यक्रम अनुसार 19 मार्च को प्रथम संगीत संध्या में मैहर वाद्य वृन्द-मैहर, उस्ताद शाहिद परवेज पुणे-सितार, रानी खानम दिल्ली-कथक समूह, उस्ताद राशिद खां एवं अरमान खां कोलकाता का गायन युगल, संगीता शंकर, रागिनी शंकर, नंदिनी शंकर, मुंबई-वायोलिन तिगलबंदी और गजेंद्र कुमार पंडा-त्रिधारा, भुवनेश्वर-ओडि़सी समूह की प्रस्तुतियां होंगी। द्वितीय संगीत संध्या में 20 मार्च को मैहर वाद्य वृन्द-मैहर, विशाल कृष्णा, वाराणसी का कथक समूह, रसिका गावड़े इंदौर का गायन, ऋषभ त्रिपाठी सतना का तबला वादन, कौशिकी चक्रवर्ती कोलकाता का गायन, सिराज अली खां एवं दिप्तोनील भट्टाचार्यजी कोलकाता की सरोज जुगलबंदी और नीलांगी कलंत्रे जबलपुर की कथक की प्रस्तुतियां होंगी। इसी प्रकार आखिरी और तीसरी संगीत संध्या में 21 मार्च को मैहर वाद्य वृन्द-मैहर, श्वेता वर्मा एवं ज्योति यामिनी लखनऊ का कथक युगल, शांभवी शुक्ला सागर का कथक समूह, विनोद मिश्रा सतना का गायन, राकेश चौरसिया मुंबई की बांसुरी, अमन जैन एवं समूह मैहर का गायन (द ग्लैम म्यूजिशियन) एवं स्थानीय कला समूह मैहर के कार्यक्रम की प्रस्तुतियां होंगी। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश