2 साल की वंशिका को उपचार के लिए मिली पौने सात लाख रुपए की सहायता
2 साल की वंशिका को उपचार के लिए मिली पौने सात लाख रुपए की सहायता
मध्य-प्रदेश

2 साल की वंशिका को उपचार के लिए मिली पौने सात लाख रुपए की सहायता

news

2 साल की वंशिका को उपचार के लिए मिली पौने सात लाख रुपए की सहायता गुना 12 सितंबर (हि.स.)। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत एक गरीब बालिका को उपचार के लिए पौने सात लाख रुपए की सहायता मिल गई है। इससे परिजनों में हर्ष व्याप्त है। जानकारी के मुताबिक राघौगढ़ तहसील के ग्राम रामपुरा निवासी राम नारायण लोधा अपने तीन पुत्रों के साथ संयुक्त परिवार में रहते हैं। आजीविका के नाम पर उनके पास थोड़ी सी जमीन है, जिस पर वह खेती करके अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं। उनके दोनों पुत्र भगवानसिंह और धनलाल खेती मे पिता का सहयोग करते है। जबकि तीसरा पुत्र जगदीश लोधा प्राईवेट नौकरी करता है। जिससे उन्हें लगभग 11 हजार रुपए प्रतिमाह मानदेय मिलता है। जगदीश की दो पुत्रियां हैं। जिसमें बड़ी बेटी 6 वर्ष और छोटी बेटी वंशिका 2 वर्ष की है। वंशिका जन्म से ही आंखों की समस्या से ग्रसित थी, जिसके लिए परिवार वाले चिंतित रहते थे परंतु जैसे ही वह 2 वर्ष की हुई परिवार वालों को लगा कि उसे सुनाई भी नहीं देता है। उन्होंने कई डॉक्टर से स्थानीय स्तर पर इलाज कराया परन्तु कोई लाभ नहीं हुआ। फिर एक दिन जगदीश अपनी पुत्री को लेकर गुना में डॉ शब्बीर हुसैन ईएनटी के पास उपचार के लिए लेकर आए। उन्होंने आरबीएसके कार्यक्रम की जानकारी दी और उन्होंने बच्चे को आगे के नि:शुल्क उपचार के लिए जिला शीघ्र हस्तक्षेप केन्द्र रेफर किया। यहां पर जिला शीघ्र हस्तक्षेप प्रबंधक विनीता सोनी ने जगदीश को आरबीएसके कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि बच्ची के उपचार पर जो भी व्यय होगा वह आरबीएसके कार्यक्रम के अंतर्गत किया जाएगा। इसके बाद डीईआईसी में प्रांरभिक जांच कराकर बच्ची को अन्य प्रकार की जांचों के लिए भोपाल रैफर किया गया। भोपाल से बच्चे के कॉक्लियर इम्पलांट सर्जरी के लिए 650000 रुपए एवं नेत्र आपरेशन के लिए 22000 रुपए का स्टीमेट दिया गया। आवश्यक कार्यवाही के बाद सीएमएचओ डॉ बुनकर ने 672000 रुपए की राशि का स्वीकृति दी। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक/केशव-hindusthansamachar.in