18 ब्लाइंड स्पाट और संभावित दुर्घटना क्षेत्रों को चिन्हित कर हटाए अतिक्रमण
18 ब्लाइंड स्पाट और संभावित दुर्घटना क्षेत्रों को चिन्हित कर हटाए अतिक्रमण
मध्य-प्रदेश

18 ब्लाइंड स्पाट और संभावित दुर्घटना क्षेत्रों को चिन्हित कर हटाए अतिक्रमण

news

रतलाम, 05 नवम्बर (हि.स.)। जिले में सड़क सुरक्षा की दृष्टि से जिला स्तर पर संभावित दुर्घटना क्षेत्रों का आंकलन कर दुर्घटना के कारणों का पता लगाया जाकर सुधार कार्य प्रारंभ किए गए। इसके साथ ही सुधार कार्यों हेतु सर्वे भी किया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी द्वारा एमपीआरडीसी के अधिकारी, इंजीनियर तथा यातायात पुलिस की टीम के साथ गुरुवार को जावरा, आगर हाईवे ताल नाके से कस्बा ताल तक गुरूवार को पैदल निरीक्षण किया। जिसमें 18 ब्लाइंड स्पाट और संभावित दुर्घटना क्षेत्रों को चिन्हित किया गया, जो दुर्घटना का कारण बन रहे हैं। भ्रमण के दौरान कस्बा हाट पिपलिया में रोड़ के किनारे दुकानदारों द्वारा अतिक्रमण कर लिया गया, जिससे दुर्घटना की संभावना अत्यधिक बड़ जाती है एवं किसी वाहन के अनियंत्रित होने से जनहानि की भी आशंका प्रतित हो रही थी अतेव 18 दुकानदारों को अपना अवैध अतिक्रमण 24 घंटे के भीतर हटाने के निर्देश दिए। इसी प्रकार कस्बा ताल में भी हाईवे के किनारे बनाए गए अतिक्रमण के कारण वाहन अनियंत्रित होने पर दुर्घटना की आशंका को देखते हुए अतिक्रमण हटाया गया एवं कई स्थानों पर आवश्यकता होने पर झाडिय़ां काटी गई। नयापुरा बर्डियागोयल फंटे पर सड़क पर निगरानी हेतु सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। अभियान के अंतर्गत आज दिनांक को जिले की सीमा अंतर्गत महू-नीमच हाईवे, जावरा-नागदा हाईवे का पूर्ण निरीक्षण कर सुधार कार्य प्रारंभ किया जा चुका है व आज दिनांक को जिले की सीमा में लगे जावरा-आगर हाईवे पर 90 प्रतिशत मार्ग का निरीक्षण किया गया। हाईवे पर पेड़ की कटाई, सोल्डर का भरा जाने और साईन बोर्ड को सुधार करने का कार्य किया गया। महू-नीमच हाईवे पर जावरा क्षेत्र के 4 कि.मी. की पेड़ों की कटाई व रेडियम लगाने का कार्य प्रारंभ किया गया । यू-टर्न पर रिफलेक्टर व साईन बोर्ड लगाए जाने का कार्य भी तिव्र गति से हो रहा है। एसपी के अनुसार यह कार्रवाई जारी रखी जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/ शरद जोशी-hindusthansamachar.in