गांवों में बनाए 113 भाप केंद्र, जिला पंचायत कार्यालय में भी हुआ नवाचार

गांवों में बनाए 113 भाप केंद्र, जिला पंचायत कार्यालय में भी हुआ नवाचार
113-steam-centers-built-in-villages-innovation-also-happened-in-zilla-panchayat-office

होशंगाबाद,7 मई ,2021 (हिस )एक विशेष अध्ययन अनुसार प्रतिदिन सुबह- शाम लगभग 3 -3 मिनट भाप लेने से कोरोना संक्रमण से बचाव किया जा सकता है। इस संबंध में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा जारी किए गए निर्देशों के अनुपालन में जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण की आशंका के दृष्टिगत ग्रामीण क्षेत्रों में भाप केंद्र स्थापित किए जा रहे हैं। शुक्रवार को जिला पंचायत कार्यालय होशंगाबाद में भाप केंद्र स्थापित किया गया जहां कार्यालय के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा भाप ली गई। इसी तरह विकासखंड सिवनीमालवा में 60, बाबई व सोहागपुर में 10-10, बनखेड़ी में 4, होशंगाबाद में 13, सोहागपुर एवं केसला में 8-8 इस तरह 113 भाप केंद्र स्थापित किए गए हैं। जिला पंचायत सीईओ मनोज सरियाम ने समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देशित किया है कि उक्त कार्य के लिए मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम अंतर्गत भोजन पकाने के लिए उपयोग में लाये जाने वाले गैस कनेक्शन एवं कुकर का उपयोग किया जाएं। चूंकि शालायें बंद हैं अतः रसोईया, गैस कनेक्शन एवं कुकर आदि व्यवस्था हो, जो शालाओं में उपलब्ध हैं के माध्यम से ग्राम पंचायत एवं अन्य शासकीय भवन जो भी सुविधाजनक हो, में भाप केन्द्र स्थापित कर ग्रामीणों को भाप लेने की व्यवस्था की जाए। सीईओ सरियाम ने भाप केंद्र संचालन के दौरान आवश्यक सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि भाप केन्द्र में रसोईया / अन्य व्यक्ति की डयूटी लगाई जाये। कुकर में पानी भरा रहे तथा गैस जलाते समय सुरक्षा नियमों का ध्यान रखें। कोरोना प्रोटोकॉल का ध्यान रखकर सुरक्षित दूरी बनाये रखें, साथ ही भाप केन्द्र पर सेनेटाईजर या हाथ धोने की व्यवस्था की जाए। एक गैस कनेक्शन व कुकर पर अधिकतम तीन लोगों को भाप लेने की व्यवस्था रखें। हिंदुस्तान समाचार/ आत्माराम यादव