सोहागी पहाड़ में पकड़ी गई नकली सीमेंन्ट की फैक्ट्री
सोहागी पहाड़ में पकड़ी गई नकली सीमेंन्ट की फैक्ट्री
मध्य-प्रदेश

सोहागी पहाड़ में पकड़ी गई नकली सीमेंन्ट की फैक्ट्री

news

पिकअप में लोड नकली सीमेन्ट, खाली बोरियां और राखड़ जप्त मास्टर माइंड लालू यादव मौके से फरार उसका भाई गिरफ्तार रीवा, 12 सितम्बर (हि.स.)। पुलिस अधीक्षक राकेश सिंह ने शनिवार को जिले के सोहागी पहाड़ में नकली सीमेन्ट कारखाने का खुलासा किया। वर्षों से हो रहे नकली सीमेन्ट के गोरखधंधे के खिलाफ पहली बार इतने व्यापक पैमाने पर पुलिस कार्यवाही की गई है। इस कारखाने को पकड़े के लिये एसपी द्वारा तीन टीमें बनाई गई थी। जिनके द्वारा योजना बद्ध तरीके से दी गई दबिश के परिणाम स्वरूप सोहागी पहाड़ के लाद गांव में नकली सीमेंट लोड करते हुये और पैकिंग करते हुये मौके पर पकड़ा गया। एसपी द्वारा बनाई गई तीन अलग-अलग टीमों का नेतृत्व सोहागी थाना प्रभारी पवन शुक्ला, थाना प्रभारी रायपुर कर्चु,आदित्य प्रताप सिंह एवं अमहिया थाना के पीएसआई ऋषभ सिंह कर रहे थे। पुलिस की रेट पड़ते ही वहां मौजूद लोग मौके से फरार हो गये। पुलिस के हाथ केवल रमाकांत यादव मिला है जो इस नकली सीमेट फैक्ट्री के संचालक उमाशंकर यादव उर्फ लालू यादव का भाई है। बताया जाता है कि यहां पर नकली सीमेट बनाने का काम लंबे समय से चल रहा था। शुरूआती दौर में सीमेट से लोड ट्रकों से लूज सीमेन्ट निकालकर उसमें राखड़ मिलाकर नकली सीमेट तैयार की जाती थी। जैसे-जैसे गोरखधंधा बढ़ता गया। कच्चा माल के संसाधन भी जुटते चले गये। वर्तमान में तो हालत यह थी कि स्थानीय तौर पर बनने वाली सभी ब्रांडेड कंपनियों की प्रिंटेट बोरियां फैक्ट्री से मंगाई जाती थी। राखड़ ट्रकों में मंगाया जाता था। इसके अलावा लूज सीमेंट प्लांटों की तरह यहां भी आर्डर पर सप्लाई जाती थी। पता लगाया जा रहा है कि इस नकली सीमेन्ट की सप्लाई कहां कहां की जा रही थी। एसपी के निदेश पर मारे गये छापे के बाद से जिले का माफिया गिरोह सख्ते में आ गया है। हिन्दुस्थान समाचार / विनोद शुक्ल-hindusthansamachar.in