सुमावली में गरजे अजय सिंह, एदल सिंह कंसाना को कहा चंबल का माफिया
सुमावली में गरजे अजय सिंह, एदल सिंह कंसाना को कहा चंबल का माफिया
मध्य-प्रदेश

सुमावली में गरजे अजय सिंह, एदल सिंह कंसाना को कहा चंबल का माफिया

news

भोपाल, 14 अक्टूबर (हि.स.)। पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह आज कमलनाथ के साथ मुरैना जिले के सुमावली में कांग्रेस प्रत्याशी अजब सिंह कुशवाहा के समर्थन में आयोजित चुनावी सभा में पँहुचे। उन्होंने कहा कि यहाँ की जनता ने अपने कीमती वोटों से कांग्रेस की सरकार बनायी थी। उस दौर में कांग्रेस को सत्ता सौंपी थी जब पूरा प्रदेश मामा के झूठे वादों से थक चुका था। पूरा प्रदेश जान गया था कि मामा का असली चेहरा क्या है? लेकिन हुआ क्या? जिसे आपने चुना था, उस एदल सिंह कंसाना ने चंबल की रेत, अवैध शराब और टोल प्लाजा बेचते बेचते आपका वोट भी बेच दिया। वे कांग्रेस को बेचकर अब भाजपा के उम्मीदवार बन गए हैं। जब जनता की बनाई सरकार छल कपट से चली गई तो अब आपका ये फर्ज बनता है कि दोबारा कमलनाथ और कांग्रेस की सरकार बनायें। अजय सिंह ने कहा कि पहले सिंधिया कहते थे कि टाइगर अभी जिंदा है। अब उन्होंने कहा कि मैं काला कौआ हूँ। कौए के बारे में आप सभी जानते हैं। सिंधिया को टाइगर से कौआ बने अभी कुछ ही दिन हुये हैं। अब चुनाव के बाद क्या बनेंगे, यह समय ही बताएगा। सिंधिया ने जो गद्दारी की है उसमें उनका दोष नहीं है। उन्होंने वही किया जो उनके राजपरिवार में पहले से होते आया है। परिवार की पृष्ठभूमि देर सबेर उजागर हो ही जाती है। अजय सिंह ने कहा कि जब मैं पंचायत विभाग का मंत्री था तो एदल सिंह कंसाना मेरे राज्य मंत्री हुआ करते थे। विधानसभा प्रश्नकाल के समय वे हमेशा गोल हो जाया करते थे। जब मैं उनसे कहता कि अपने विभाग का प्रश्नकाल है, अधिकारियों के साथ ब्रीफिंग में आ जाना। तो कहते थे कि हाँ भैया, आ जाऊंगा। लेकिन ठीक एक दिन पहले उनका फोन आ जाता था कि मैं प्रश्नकाल में उपस्थित नहीं हो सकूँगा क्योंकि मेरा रेत का ट्रक पकड़ गया है। चंबल में कोई माफिया गिरोह है तो वह एदल सिंह कंसाना का है। आज एदल सिंह ने आपका वोट बेचा है, अब आपका समय आया है। आपको बता देना है कि हमें नहीं चाहिए रेत का कोई माफिया, हमें नहीं चाहिए ऐसा विधायक जो टोल प्लाजा में चोरी करवाता हो, गाँव गाँव में अवैध दारू बेचता हो। हमें तो अजब सिंह कुशवाहा जैसा सीधा सादा किसान चाहिए, जो जनता की सेवा करे। अजयसिंह ने कहा कि मेरे पिताजी स्व अर्जुनसिंह तीन बार प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। वे सन 77 से कमलनाथ के सहयोगी रहे, उनके ही कार्यकाल के दौरान इस अंचल में मलखान सिंह और फूलनदेवी ने आत्मसमर्पण किया। आत्मसमर्पण के बाद वापस लौटते हुये उन्होंने मुझसे कहा था कि मुरैना में एक खासियत है। यदि यहाँ का कोई व्यक्ति आत्म सम्मान की खातिर गोली चलाये तो परिवार उसका बचाव करता है, और यदि वह गद्दारी करता है या किसी महिला से छेड़छाड़ करता है तो उसका परिवार उसे पुलिस को सौंप देता है। आज आपके साथ गद्दारी हुई है, आपके वोट को बेचा है एदल सिंह ने, आपके वोट पर पुलिस और सरकार के बल पर खुले आम कब्जा करने की बात करता है। जनता जनार्दन आप हो, किसी दूसरे का अधिकार नहीं है आपके वोट पर। यदि आपकी बनाई सरकार छलकपट से गिरा दी गई है तो आपका फर्ज बनता है दोबारा कमलनाथ और कांग्रेस सरकार बनाने का। मुझे यहाँ की जनता पर पूरा भरोसा है कि वह सच का साथ देगी। हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा पाण्डेय-hindusthansamachar.in