सिंध नदी में डूबीं दो सगी बहनें
सिंध नदी में डूबीं दो सगी बहनें
मध्य-प्रदेश

सिंध नदी में डूबीं दो सगी बहनें

news

गुना, 10 सितम्बर (हि.स.)। जिले के म्याना थानातंर्गत दो सगी बहनें गुरुवार को सिंध नदी में डूब गईं। 15 और 17 वर्ष की दोनों बहने नदी में नहाने के लिए गईं थीं, इसी दौरान नदी में डूब गईं। ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने गोताखोरों के साथ दोनों बहनों को खोजने की मशक्कत की, किन्तू घंटों की मशक्कत के बाद भी उनका कुछ पता नहीं चला, वहीं सूचना मिलने के बाद क्षेत्र के दौरे पर रहे पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महैन्द्र सिंह सिसौदिया भी गांव पहुँच गए थे। उन्होंने बालिकाओं को खोजने पुलिस, प्रशासन को जरुरी दिशा-निर्देश दिए। पैर फिसलने से हुआ हादसा बताया जाता है कि तेंदुआ निवासी खैरू बघेल की दो बेटी 17 वर्षीय बती बाई एवं 15 वर्षीय हल्की बाई गुरुवार दोपहर सिंध नदी में नहाने गई थीं। इसी दौरान बड़ी बहन का पैर फिसल गया और वह गहराई में चली गई। यह देखकर छोटी बहन भी बड़ी बहन के पीछे चली गई। चूंकि इस समय मानूसन का मौसम चल रहा है, जिससे नदी में बहाव तेज है। इसी तेज बहाव की चपेट में बहनें आ गईं और बहती चली गईं। ग्रामीणों ने दी परिजनों की सूचना जिस समय यह घटना हुई, उस समय कुछ ग्रामीण मौके से निकल रहे थे। जिन्होने बच्चियों के बचाने की आवाज सुनी तो वह भागे-भागे मौके पर पहुँचे और घटना देखकर परिजनों को सूचना दी। दो बालिकाओं के डूबने की खबर से गांव में हडक़ंप मच गया। इसी बीच ग्रामीणो ने पुलिस प्रशासन को भी खबर कर दी थी। रात तक चलती रही मशक्कत, नहीं चला पता सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। इसके बाद होमगार्ड की डिस्ट्रिक्ट कमांडेंट सुमन विसारिया व पीसी मनोज सिंह भदौरिया भी मौके पर पहुंचे। इसके बाद गोताखोरों की मदद से बालिकाओं की तलाश शुरु की गई। मोटर बोट की मदद से गोताखोरों की टीम रात तक बालिकाओं की तलाश करती रही, किन्तू उनका कुछ पता नहीं चल सका। तलाश में जुटी गोताखोरों की टीम के मुताबिक नदी की गहराई अधिक होने के साथ ही पानी का बहाव तेज होने के साथ ही बालिकाओं को खोजने में परेशानी आ रही है। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल घटना के बाद से जहां गांव में खलबली मची हुई है तो परिजनों का रो-रोंकर बुरा हाल है। बताया जाता है कि खैरू बघेल के 4 बच्चे हैं। जिनमें यह दोनों बेटियां तीसरे और चौथे नंबर की हैं। एक बड़े बेटे व बेटी की शादी हो चुकी है। ग्रामीणों का कहना है कि गांव नदी के किनारे बसा हुआ है और बच्चे अक्सर वहां नहाने के लिए जाया करते है। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक-hindusthansamachar.in