सांवेर में कमलनाथ ने भरी हुंकार, भाजपा पर जमकर साधा निशाना
सांवेर में कमलनाथ ने भरी हुंकार, भाजपा पर जमकर साधा निशाना
मध्य-प्रदेश

सांवेर में कमलनाथ ने भरी हुंकार, भाजपा पर जमकर साधा निशाना

news

इंदौर, 13 सितम्बर (हि.स.)। मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने उपचुनाव को लेकर राजनीतिक दौरे शुरू कर दिए है। रविवार को वे सांवेर के अर्जुन बरोदा गांव में पहुंचे जहां उन्होंने हुंकार भरते हुए भाजपा पर जमकर निशाना साधा। कमलनाथ ने साँवेर के कांग्रेस प्रत्याशी प्रेमचंद गुड्डू के समर्थन में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा पर सौदेबाजी का सरकार गिराने का आरोप लगाते हुए अपनी सरकार के दौरान किए गए कार्यों को गिनाया। कमलनाथ ने कहा कि " मैं प्रदेश की जनता से और सांवेर की जनता से पूछना चाहता हूं कि वह बताएं कि क्या माफियाओं के खिलाफ अभियान छेड़ मैंने कोई पाप किया, क्या मिलावट के खिलाफ युद्ध छेड़ मैंने कोई गलती की, क्या लोगों को शुद्ध दूध पिला कर मैंने कोई गलती की। क्या यह मेरा गुनाह है,जो सौदेबाजी कर मेरी सरकार गिरा दी गई? उन्होंने कहा कि क्या प्रदेश की पहचान माफिय़ाओं से होगी, मिलावटखोरों से होगी। इस अवसर पर कमलनाथ ने कहा कि सांवेर में नर्मदा लाने की शुरुआत हमारी सरकार ने की, उस पर काम हमने शुरू किया लेकिन यह लोग आज सिर्फ घोषणा की राजनीति कर जनता को गुमराह करने में लगे हुए हैं। यह लोग सिर्फ घोषणा की, कलाकारी की राजनीति जानते हैं। अभी अगले 6 महीने तक ये लोग कई झूठी घोषणाएं करेंगे। मुझे लगा था कि शिवराज जी इतने वर्षों बाद अब झूठी घोषणाओं से बाहर जाएंगे लेकिन अभी भी उनका झूठ बोलने का काम निरंतर जारी है। मैं कभी घोषणा नहीं करता, मैंने तो मुख्यमंत्री रहते भी एक भी घोषणा नहीं की। इनको सडक़ पर रोजगार को लेकर भटकता नौजवान-युवा दिखाई नहीं देता, इनकी आंखें बंद है, इनको मदद के लिए चिल्लाता किसान दिखाई नहीं देता क्योंकि इनके कान बंद है, इनका तो सिर्फ मुंह चालू है। मुंह चलाने और सरकार चलाने में बड़ा अंतर है। कमलनाथ ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आज प्रदेश की इन्होंने क्या हालत कर दी, तस्वीर आपके सामने है। आपने कभी गुजरात, केरल या तमिलनाडु का मजदूर देखा है लेकिन आपने टीवी पर भी देखा होगा तो मध्यप्रदेश का मजदूर देखा होगा। इन्होंने अपने 15 वर्ष की सरकार में मध्यप्रदेश को सबसे ज्यादा मजदूरों का उत्पादन वाला राज्य बना कर रख दिया। इन्होंने अपनी 15 वर्ष की सरकार में मुझे कैसा प्रदेश सौंपा। बेरोजगारी में नंबर वन, महिलाओं से अत्याचार में नंबर वन, किसानों की आत्महत्याओं में नंबर वन। हमारी सरकार को तो काम करने के लिए मात्र साढे 11 माह ही मिले, इसमें भी हमने अपनी नीति और नियत का परिचय दिया। प्रशासन पर कटाक्ष करते हुए कमलनाथ ने कहा कि जो अधिकारी आज भाजपा का एजेंट बनकर काम कर रहे हैं, भाजपा का बिल्ला जेब में लिए फिर रहे हैं, उनसे भी हम समय आने पर हिसाब किताब लेंगे। आज हमारे सामने कृषि क्षेत्र की चुनौती है, कैसे आर्थिक मजबूती आए। आज इंदौर का बाजार दिल्ली से नहीं चलता, यह हमें देखना होगा। आज हमारा युवा-नौजवान भटक रहा है, यह चित्र सबके सामने है। आप कमलनाथ का भले साथ मत देना लेकिन सच्चाई का साथ ज़रूर देना क्योंकि यह उपचुनाव नहीं है, यह तो प्रदेश के भविष्य का चुनाव है। प्रदेश के नौजवानों के भविष्य को हमें सुरक्षित रखना है। हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा पाण्डेय-hindusthansamachar.in