सख्ती से करें सर्वे, आइसोलेशन, क्वारेंटाइनः कलेक्टर
सख्ती से करें सर्वे, आइसोलेशन, क्वारेंटाइनः कलेक्टर
मध्य-प्रदेश

सख्ती से करें सर्वे, आइसोलेशन, क्वारेंटाइनः कलेक्टर

news

गुना, 05 नवम्बर (हि.स.)। मौसम में ठंड घुलने के साथ ही बढऩे लगे कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों को लेकर प्रशासन में चिंता भी बढऩे लगी है। कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने खुद माना है कि जिले के कोरोना के प्रकरण बढ़ रहे है। जो चिंता का विषय है। इतना ही नहीं, कलेक्टर ने इसको लेकर गुुरुवार को समीक्षा बैठक भी बुलाई। जिसमें उन्होंने साफ तौर पर निर्देश दिए कि संबंधित विभागीय अधिकारी कोरोना संक्रमण के सामुदायिक फैलाव को रोकने के प्रति गंभीर रहें और सर्वे, रोगी को आइसोलेशन और क्वारेंटाइन किए जाने संबंधित कार्रवाईयां सख्ती के साथ करें। उन्होंने संबंधित अनुविभागीय अधिकारियों एवं स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सकों को कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर विश्लेषण करने एवं कोरोना टेस्?ट के संख्या बढ़ाकर शत-प्रतिशत करने निर्देशित किया। मास्क नहीं तो सेवा नहीं का हो पालन बैठक में कलेक्टर ने कहा कि त्यौहारों और पर्वों में नागरिकों के घर से बाहर शामिल होने और यात्राएं करने के कारण कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है। उन्होंने कहा कि आने वाले दीपावली के त्यौहार को दृष्टिगत रखते हुए भी बड़ी संख्या में नागरिकों के खरीददारी एवं अन्य कार्यों से बाजारों में आने-जाने के कारण भी कोविड-19 संक्रमण का फैलाव बढऩे की संभावना है। व्यापारी वर्ग स्वयं मास्क लगाएं, कोविड-19 के मद्देनजर सामाजिक दूरी के साथ अपने-अपने व्यवसाय करें। वे चेहरे को मास्क से ढंककर नही आने वाले ग्राहक को सामग्री नहीं दें और कोविड-19 से सुरक्षा के समस्त मानकों का पालन सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने कहा कि इसका उल्लंघन करने वाले व्यवसायियों के विरूद्ध चालानी की कार्रवाई की जाए। खाद की कमी नहीं बैठक में कलेक्टर ने कहा कि संबंधित अधिकारी पूर्व में जिस तरह कोरोना संक्रमित व्यक्ति के पाए जाने पर आईसोलेशन-क्वारेंन्टीन एवं सर्वे की कार्रवाईयां की गई है, वैसी ही व्यवस्थाएं एवं कार्रवाईयां सख्ती के साथ सुनिश्चित करें और अपनी प्राथमिकता में रखें। उन्होंने कहा कि जिले में खाद की कमी नहीं है। किसान परेशान नहीं हो, के उद्देश्य से वितरण व्यवस्थाएं दुरूस्त रहें और इस पर सतत् पर्यवेक्षण हो।इस अवसर पर अपर कलेक्टर विदिशा मुखर्जी, जिपं सीईओ निलेश परीख, सीएमएचओ डॉ. पुरुषोत्तम बुनकर आदि मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक-hindusthansamachar.in