श्री कालिकामाता मंदिर पर नवरात्रि महोत्सव पर्व की नहीं मचेगी धूम
श्री कालिकामाता मंदिर पर नवरात्रि महोत्सव पर्व की नहीं मचेगी धूम
मध्य-प्रदेश

श्री कालिकामाता मंदिर पर नवरात्रि महोत्सव पर्व की नहीं मचेगी धूम

news

रतलाम, 15 अक्टूबर (हि.स.)। अतिप्राचीन एवं चमत्कारी श्री कालिका माता मंदिर पर मां की आराधना का महा पावनपर्व शारदीय नवरात्रि महोत्सव कोरोना वाईरस संक्रमण के कारण धूमधाम से नहीं मनाया जाएगा। श्री कालिकामाता सेवा मण्डल ट्रस्ट अध्यक्ष राजाराम मोत्यिानी ने गुुरुवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि शासकीय आदेश अनुसार अल-सुबह होने वाले गरबारास, दशहरे पर निकलने वाली झांकीयां और रामजी की सवारी के आयोजनों को निरस्त कर दिया गया है। गरबा परिसर में माता जी की प्रतिमा एवं चांदी का गरबा स्थापित कर प्रतिदिन पूजा-अर्चना की जाएगी। उन्होंने बताया कि सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए अभ्यागतों की लाईन लगवाकर सुबह 11 बजे से 12 बजे तक भोजन के पैकेट वितरित किए जाएगे। प्रतिदिन एक या दो घण्टे तक एक व्यक्ति द्वारा नो दिनों तक रामायण परायण किया जाएगा। नवरात्रि की तिथियों की घोषणा करते हुए मंदिर के राजु पुजारी ने बताया कि 17 अक्टूबर शनिवार को शुभ मर्हुत में सुबह 7.30 बजे घट स्थापना एवं धर्मध्वजा रोहण के साथ नवरात्रि पर्व का शुभारंभ होगा। माता जी की महाआरती प्रतिदिन सुबह 6.35 बजे से और रात्रि में 8.35 बजे से होगी। 24 अक्टूबर शनिवारको महाअष्टमी पर माता का भव्य शृंगार किया जाएगा और सुबह 9 बजे से पुजारी परिवार द्वारा हवन कुण्ड में आहुतियां दी जाएगी। जिसकी पूर्णाहुति दोपहर 2 बजे होगी। 25 अक्टूबर रविवार को सुबह नवमी व दोपहर बाद दशहरा मनाया जाएगा। दर्शनार्थियों के लिए मंदिर के पट प्रतिदिन सुबह 4 बजे से रात्रि 11 बजे तक खुले रहेंगे। मां के दर्शन के लिए मंदिर में पांच की संख्या में ही दर्शनार्थियों को प्रवेश दिया जाएगा। पांच दर्शनार्थियों को दर्शन कर लेने के बाद ही दुसरे पांच दर्शनार्थियों को मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा। सेनेटाईजर व मास्क का उपयोग सभी को आवश्यक रूप से करना अनिवार्य है। यह जानकारी मण्डल ट्रस्ट के मुकेश जोशी ने दी। हिन्दुस्थान समाचार/ शरद जोशी-hindusthansamachar.in