शिक्षा को व्यवसाय न बनाएं शिक्षक : अरोरा
शिक्षा को व्यवसाय न बनाएं शिक्षक : अरोरा
मध्य-प्रदेश

शिक्षा को व्यवसाय न बनाएं शिक्षक : अरोरा

news

गुना, 07 सितम्बर (हि.स.)। शिक्षा को शिक्षकों द्वारा व्यवसाय नहीं बनाना चाहिए। कारण शिक्षक दाता होता है, जो शिक्षा का दान करता है। उक्त विचार भारत विकास परिषद की प्रांतीय उपाध्यक्ष श्रीमती सन्तोष अरोरा ने सोमवार को अरोरा परिषद द्वारा आयोजित शिक्षक सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए व्यक्त किये। बजरंगगढ़ मार्ग स्थित नवोदय विद्यालय में आयोजित समारोह का शुभारंभ माँ सरस्वती एवं मां भारती के चित्रों पर माल्यार्पण कर किया गया। परिषद के मीडिया प्रभारी दिनेश श्रीवास्तव ने बताया कि इस दौरान 40 से अधिक शिक्षकों का शॉल श्रीफल भेंटकर सम्मान किया गया। स्वागत उदबोधन में परिषद के अध्यक्ष आनन्द कृष्णानी ने जहाँ शिक्षकों को राष्ट्र निर्माण में उनके योगदान को अतुलनीय बताया। अध्यक्षीय उद्बोधन विद्यालय के प्राचार्य डॉ अरुण कुमार तिवारी ने दिया। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक-hindusthansamachar.in