शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी साबित होगी नई शिक्षा नीति: यादव
शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी साबित होगी नई शिक्षा नीति: यादव

शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी साबित होगी नई शिक्षा नीति: यादव

गुना, 17 सितम्बर (हि.स.)। नई शिक्षा नीति शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी साबित होगी। कोशिश यह है कि इसी सत्र से नीति के अनुरुप शिक्षा में बदलाव किया जाए। यह बात प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने गुरुवार को गुना प्रवास के दौरान कही। उन्होने पत्रकारों से बातचीत करने के साथ ही जिले के सभी महाविद्यालयों के प्राचार्यों की बैठक ली। जिसमें उन्होंने उच्च शिक्षा की समीक्षा करते हुए नवाचार पर जोर दिया। इस दौरान शिक्षा मंत्री का यादव समाज ने समारोह आयोजित कर सम्मान भी किया। इस दौरान उन्होने समाजजनों को भरोसा दिलाया कि प्रदेश एवं केन्द्र की भाजपा सरकार हर वर्ग की चिंता कर रही है और इससे यादव समाज भी अछूता नहीं है। अतिथि शिक्षकों के लिए बनेगी नीति उच्च शिक्षा मंत्री यादव ने सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि अतिथि शिक्षकों के लिए नीति बनाई जा रही है। प्रदेश भर में 4231 अतिथि प्राध्यापक है, जिनमें से लगभग 2500 अतिथि प्राध्यापक प्रदेश भर के विभिन्न कॉलेजों में स्ववित्तीय पाठ्यक्रम के तहत कार्यरत है, जबकि लगभग 1700 अतिथि प्राध्यापक कॉलेजों में विभिन्न विषयों के लिए नियुक्त है। इनमें 840 तो विभाग द्वारा नियुक्ति दी गईं है, जबकि शेष को आगे जगह रिक्त होने पर समाहित किया जाएगा। महाविद्यालयों में व्याप्त समस्याओं को लेकर मंत्री ने कहा कि प्रदेश ऐसा पहला राज्य है, जहां महाविद्यालय की समस्या का निराकरण के लिए बेहतर प्रयास हो रहे है। खुद वह प्रदेश के हर जिले में पहुँचकर सीधे प्राचार्यों की बैठक लेकर उच्च शिक्षा क्षेत्र की समस्याओं को समझते हुए उनके निराकरण का प्रयास कर रहे है। ओपन परीक्षा के नाम पर नहीं होगा शिक्षा के स्तर से समझौता ओपन परीक्षा के नाम पर शिक्षा के स्तर से समझौते की बात को नकारते हुए यादव ने कहा कि सरकार ने इसमें कोई समझौता नहीं किया है। परिस्थितिवश सिर्फ प्रश्न पत्र का मॅाडल बदला है, इससे बच्चों को कोई नुकसान नहीं होगा। उन्होने कहा कि कोरोनाकाल में यूजीसी के निर्देशों के अनुसार प्रदेश भर के विश्व विद्यालयों द्वारा ओपन बुकर परीक्षाएं ली जा रहीं है। इससे बच्चों के स्तर पर कोई फर्क नहीं पडऩे की बात कहते हुए उन्होने कहा कि योजना के अनुसार फाइनल के परीक्षार्थियों का नतीजा, पहले दो वर्षों से 50 फीसद और ओपन बुक परीक्षा का 50 फीसद परिणाम मिलाकर तैयार किया जाएगा। मॉडल कॉलेज हेतु जमीन जल्द मिलेगी उच्च शिक्षा को और बेहतर बनाने के लिए सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों को रेंखाकित करते हुए यादव ने जानकारी दी कि शहर में मॉडल कॉलेज के लिए 12 करोड़ की राशि का आवंटन किया गया है। वह कलेक्टर से चर्चा कर निर्माण के लिए चिन्हित भूमि जल्द से जल्द उपलब्ध कराने का प्रयास करेंगे। उच्च शिक्षा मंत्री ने किया आंगनबाड़ी केन्द्र का निरीक्षण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मोत्सव पर उच्च शिक्षा मंत्री डॉ मोहन सिंह यादव द्वारा आंगनबाड़ी केन्द्र झुग्गी झोपड़ी पर आंगनबाड़ी के बच्चों को फल वितरित किए एवं सभी को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री गरीबों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध हैं। सभी अपने बच्चों के स्वास्थ्य एवं पोषण पर विशेष ध्यान दें। बच्चे हमारे देश का भविष्य हैं। इन्हें जन्म से ही सुपोषित रखना हमारा कर्तव्य है। इसी क्रम में शहर की नानाखेड़ी स्थित वार्ड क्रमांक एक की आदर्श आंगनबाड़ी केंद्र पर कुपोषित बच्चे को पोषण महोत्सव के तहत केला व दूध दिया गया। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक-hindusthansamachar.in

Last updated