वीडियो वायरल करने की धमकी देकर दुष्कर्म करने वाले आरोपी को नहीं मिली जमानत
वीडियो वायरल करने की धमकी देकर दुष्कर्म करने वाले आरोपी को नहीं मिली जमानत
मध्य-प्रदेश

वीडियो वायरल करने की धमकी देकर दुष्कर्म करने वाले आरोपी को नहीं मिली जमानत

news

सिवनी, 17 जुलाई(हि.स.)। मध्यप्रदेश के सिवनी जिले के बरघाट थाना अंतर्गत एक युवती से फेसबुक पर दोस्त बनाकर चैटिग की गई तथा उस चैटिग को आधार बनाकर ब्लैकमेल कर दुष्कर्म करने के मामले में सिराज मोहम्मद की जमानत याचिका को जिला न्यायालय सिवनी ने शुक्रवार को खारिज कर दिया है। जिला न्यायालय के मीडिया सेल प्रभारी मनोज सैयाम ने शुक्रवार की शाम जानकारी देते हुए बताया कि जिले के बरघाट थाने अंतर्गत सोशल मीडिया फेसबुक के माध्यम से आरोपी ने दोस्ती की फिर उसे ब्लैकमेल करके दुष्कर्म भी किया । जिसकी शिकायत पीड़िता ने थाने में दर्ज कराई थी। शिकायत में कहा गया था कि वर्ष 2015 में सिराज मोहम्मद पिता रियाज मोहम्मद (25) निवासी बरघाट उससे फेसबुक पर दोस्ती करके उसके साथ चैटिंग करता था। इसी दौरान पीड़िता से मोबाइल नंबर लेे लिया और उसे उल्टा सीधा डरा धमकाकर ,वीडियो चैट भी करने लगा। चैटिंग के दौरान की गई बातों को घरवालों को बता देने की धमकी देकर वीडियो चैटिंग में अश्लील वीडियो की चैटिंग करने के लिए मजबुर करता था। जब पीड़िता भोपाल में पढ़ने गई तो वहां भी जाकर उसने उसके साथ की गई निजी वीडियो चेटिंग को वायरल कर देने की धमकी देकर उसके साथ दुष्कर्म किया और धमकी दिया कि उसकी भी वीडियो बना लिया है। इस प्रकार आरोपी के द्वारा पहले फेसबुक के माध्यम से दोस्ती करके उसे डरा धमकाकर मजबुर करके उसके साथ दुष्कर्म किया है। इस शिकायत पर थाने के द्वारा आरोपी के विरूद्ध पीड़िता की आपत्तिजनक फोटो ,वीडियो बनाने और डरा धमकाकर दुष्कर्म करने का मामला 01 जुलाई 20 को दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय के माध्यम से जेल भेज दिया गया था। आगे बताया गया कि शुक्रवार 17 जुलाई को आरोपी सिराज मोहम्मद के द्वारा जमानत हेतु आवेदन लगाया गया था ,जिसकी सुनवाई माननीय श्रीमान अशोक कुमार शर्मा , चतुर्थ अपर सत्र न्यायाधीश ,सिवनी के न्यायालय में सुनवाई की गई । जिसमें शासन की ओर उमा चौधरी सहायक जिला अभियोजन अधिकारी के द्वारा कड़ा विरोध किया गया और बताया गया कि आरोपी ने दोस्ती कर विश्वास घात करके दुष्कर्म का गम्भीर अपराध किया है । माननीय न्यायालय द्वारा आरोपी की जमानत खारिज करने का आदेश जारी किया है। हिन्दुस्थान समाचार/रवि/केशव-hindusthansamachar.in