विद्युत विभाग की मनमानी से उपभोक्ता परेशान, अंधेरे में डूबे हैं कई गांव
विद्युत विभाग की मनमानी से उपभोक्ता परेशान, अंधेरे में डूबे हैं कई गांव
मध्य-प्रदेश

विद्युत विभाग की मनमानी से उपभोक्ता परेशान, अंधेरे में डूबे हैं कई गांव

news

छतरपुर, 22 नवम्बर (हि.स.)। जिले के बक्सवाहा क्षेत्र के लोग इन दिनों विद्युत विभाग की मनमानी से परेशान हैं। विभाग की लचर कार्यप्रणाली से एक ओर किसानों की सिंचाई अधर में लटकी है तो वहीं दूसरी ओर क्षेत्र के कई गांव अंधेरे में डूबे हुए हैं। पर्याप्त बिजली न मिलने के कारण किसान डीजल पंप का सहारा लेकर सिंचाई कर रहे हैं जिससे उन पर आर्थिक बोझ बढ़ रहा है। वहीं ग्रामीण अंधेरे में ही समय काट रहे हैं। उल्लेखनीय है कि क्षेत्र के अनेकों ऐसे गांव हैं जहां विद्युत विभाग द्वारा जले या खराब पड़े ट्रांसफार्मर को बदला नहीं गया है जिससे यहां समस्या खड़ी हुई है। इसके अलावा बिजली कटौती, लो वोल्टेज आदि की समस्या से भी लोग परेशान हैं। किसानों ने विद्युत विभाग के अधिकारियों से आग्रह किया है कि उन्हें सिंचाई के लिए दी जाने वाली बिजली निश्चित समय पर दी जाए। बता दें कि यहां कई ऐसे गांव भी जहां पिछले दिनों दीवाली का त्यौहार अंधेरे में ही मनाया गया। हालांकि कुछ संपन्न परिवारों ने दीपावली पर जरनेटर आदि का उपयोग कर बिजली का प्रबंध कर लिया लेकिन गरीब परिवारों को फिर भी अंधेरे में ही त्यौहार मनाना पड़ा। सिंचाई पंप चलाने के लिए किसानों से की जा रही वसूली किसानों ने विभाग पर आरोप लगाए हैं कि उनसे सिंचाई के लिए मोटर पंप चलाने के एवज में जमकर वसूली की जा रही है। किसानों ने बताया कि विद्युत विभाग द्वारा 2 फेस की मोटर के बदले में 5500 रुपये एवं 3 फेस की मोटर के बदले 9300 रुपये वसूले जा रहे हैं और इसकी रसीद भी नहीं दी जा रही है। वहीं ग्रामीण अंचलों के दर्जनों लोग अपने बिजली बिलों को ठीक कराने के लिए बिजली दफ्तर के चक्कर काट रहे हैं। इतना ही नहीं जिम्मेदार अधिकारियों के न मिलने से लोग अपनी परेशानी भी किसी को नहीं बता पा रहे हैं। इनका कहना किसी भी तरह का अतिरिक्त चार्ज नहीं लिया जा रहा है और यदि किसी बाहरी व्यक्ति के द्वारा अतिरिक्त चार्ज लिया जाता है तो इसके लिए लिए मैं जिम्मेदार नहीं हूं। फिर भी आपकी सूचना की मैं जांच करवाकर कार्यवाही करूंगा। प्रदीप पटेल, ओआईसी, बक्सवाहा हिन्दुस्थान समाचार /पवन अवस्थी-hindusthansamachar.in