लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए की गई थी हत्या, पुलिस ने किया अंधे कत्ल का खुलासा
लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए की गई थी हत्या, पुलिस ने किया अंधे कत्ल का खुलासा
मध्य-प्रदेश

लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए की गई थी हत्या, पुलिस ने किया अंधे कत्ल का खुलासा

news

उज्जैन, 7 सितम्बर (हि.स.)। उंडासा का तालाब के समीप रविवार शाम चालक की हत्या कर ऑटो लेकर हत्यारे भाग निकले थे। पुलिस ने हत्या के इस मामले का खुलासा कर दिया है। हत्या लूट के इरादे से की गई थी। ऑटो चालक की हत्या के बाद घटनास्थल पर सीएसपी पल्लवी शुक्ला, एफएसएल अधिकारी प्रीति गायकवाड़, चिमनगंज थाने के एसआई आरसी सोलंकी, रविंद्र कटारे अपनी टीम के साथ पहुंचे थे। जांच के दौरान ही मृतक का ऑटो आरक्षक शैलेष योगी और श्याम वरण को कानीपुरा मार्ग से मिला था। सोमवार सुबह पुलिस ने कानीपुरा बौद्ध स्तूप के पास से ऑटो बरामद कर कुछ संदिग्धों से पूछताछ की। पुछताछ और अन्य सुरागों से ही पुलिस को आरोपी तक पहुंचने में सफलता हाथ लगी। जिसका पुलिस ने सोमवार दोपहर को खुलासा किया । विवेचना के दौरान आरोपी समीर उर्फ अईया शाह पिता शफीक शाह 19 साल निवासी अहमदनगर व मुख्त्यार उर्फ इमरान पिता आजाद मोलाना 22 साल निवासी गली क्रमांक 2 यादवनगर आगर रोड को गिरफ्तार कर पूछताछ करने पर उन्होने कबूला कि लूट के उद्देश्य से हत्या की गई है। आरोपियों से लूटा हुआ ऑटो (कीमत करीब 3 लाख) व एक लोहे का तेज धारदार खंजर बरामद किया गया। गौरतलब है कि चिमनगंज थाना क्षेत्र में रविवार शाम 6 बजे के लगभग उंडासा तालाब के पास माधोपुरा में खेत किनारे एक व्यक्ति की खून से सनी लाश पड़ी होने की सूचना मिली थी। मृतक की शिनाख्त उनके मोबाइल से सचिन पिता हीरालाल सेमरे 40 वर्ष निवासी बजरंग नगर आटो चालक के रुप में हुई। घटनास्थल से मृतक का ऑटो गायब था जिसे सोमवार सुबह पुलिस ने कानीपुरा मार्ग से लावारिस हालत में खड़ा बरामद किया है। चालक की हत्या करने के बाद हत्यारे घटनास्थल से ऑटो लेकर फरार हुए थे। हिंदुस्थान समाचार / गजेंद्र सिंह तोमर/केशव-hindusthansamachar.in