लाड़ली लक्ष्मी योजना की बालिकाओं से मिलकर अभिभूत हूं: शिवराज
लाड़ली लक्ष्मी योजना की बालिकाओं से मिलकर अभिभूत हूं: शिवराज
मध्य-प्रदेश

लाड़ली लक्ष्मी योजना की बालिकाओं से मिलकर अभिभूत हूं: शिवराज

news

मुख्यमंत्री ने बच्चों को अपने हाथ से पौष्टिक दूध पिलाकर किया पोषण महोत्सव का किया शुभारंभ, बांटे प्रमाण पत्र भोपाल, 17 सितम्बर (हि.स.)। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 70वें जन्मदिवस के अवसर पर गुरुवार को राजधानी भोपाल में राज्यव्यापी पोषण महोत्सव का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने बालिकाओं से वार्तालाप किया और दुग्ध वितरण कार्यक्रम में शामिल हुए। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस कार्यक्रम में लाड़ली लक्ष्मी योजना लाभान्वित बालिकाओं से हुई उनकी भेंट सुखदायी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि करीब पंद्रह वर्ष पूर्व लाड़ली लक्ष्मी योजना प्रारंभ की गई थी। वे बालिकाएं जो योजना का लाभ लेकर अब शिक्षा हासिल करते हुए बड़ी कक्षाओं की तरफ बढ़ रही हैं, उनसे मिलना और बातचीत करना जीवन का एक सुखद और यादगार अनुभव है। आज इन लाड़लियों से भेंट कर अभिभूत हूँ। मुख्यमंत्री ने अक्षिता, अनुष्का, तेजल, सूर्या, वर्तिका और अन्य बालिकाओं को योजना अंतर्गत प्रमाण-पत्र प्रदान किए। उन्होंने बालिकाओं से पढ़ाई-लिखाई और केरियर निर्माण के बारे में भी बातचीत की। यह कार्यक्रम स्वामी दयानंद नगर के अंकुर विद्यालय परिसर में सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी भी उपस्थित थीं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री और मंत्री इमरती देवी ने अपने हाथों से बच्चों को सुगंधित और पौष्टिक दूध पिलाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2005 में मुख्यमंत्री बनने के बाद समाज में बालिकाओं और महिलाओं की स्थिति को देख उनके मन में लाड़ली लक्ष्मी योजना प्रारंभ करने का विचार मन में आया था। आज यह योजना फलीभूत हुई है। परिवार में कन्या के जन्म की खुशियां मनाई जाती हैं। बालिकाओं को बेहतर लालन-पालन और पढ़ाई-लिखाई के लिये सहायता मिलने से उनका मलोबल बढ़ा है। बालिकाएं सशक्त हो रही हैं। इससे बढक़र प्रसन्नता क्या होगी। आंगनवाड़ी केन्द्रों को स्वैच्छिक सहयोग मिले मुख्यमंत्री ने कहा कि राजधानी भोपाल से लेकर प्रदेश के गांव-गांव तक आंगनवाड़ी केन्द्र संचालित हैं। ये केन्द्र छोटे बच्चों को स्कूल पूर्व शिक्षा, पोषण आहार देने के साथ उनका उत्साह भी बढ़ाते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के आंगनवाड़ी केन्द्रों को सक्षम बनाने के लिये उनके अपने भवन बनाने, बच्चों की उपस्थिति बढ़ाने और बेहतर पोषण आहार उपलब्ध करवाने के प्रयास निरंतर किये जा रहे हैं। आंगनवाड़ी केन्द्रों में एक मटका अथवा पात्र रखकर स्वैच्छिक सहयोग भी आमंत्रित किया जा रहा है। इस सामाजिक जिम्मेदारी के अंतर्गत आमजन, शासकीय और अशासकीय संगठन आर्थिक सहायता से लेकर खिलौने, पोषण आहार भी दे सकते हैं। पारिवारिक मांगलिक प्रसंग जैसे जन्मदिन, विवाह, वर्षगांठ के अवसर पर नागरिकगण आंगनवाड़ी बच्चों को लाभान्वित कर खुशियां मना सकते हैं। बच्चों के चेहरों पर मुस्कान देख मुस्कुराए सभी मुख्यमंत्री ने वार्ड-31 स्थित आंगनवाड़ी केन्द्र क्रमांक 729 जिला भोपाल में पहुँचकर जब बच्चों को सुगंधित दूध का वितरण किया, बच्चों के चेहरे पर मुस्कान आ गई। बच्चों की प्रसन्नता और स्वाभाविक मुस्कान देखकर सभी उपस्थित अतिथि मुस्कुरा उठे। अंकुर विद्यालय के कार्यक्रम में मंत्री इमरती देवी सहित प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास अशोक शाह, संचालक महिला एवं बाल विकास स्वाति मीणा, कलेक्टर अविनाश लवानिया, स्थानीय नागरिक एवं जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश-hindusthansamachar.in