रोजगार मेले में 107 प्रवासी श्रमिकों को मिली उद्योगों में रोजगार की सौगात
रोजगार मेले में 107 प्रवासी श्रमिकों को मिली उद्योगों में रोजगार की सौगात
मध्य-प्रदेश

रोजगार मेले में 107 प्रवासी श्रमिकों को मिली उद्योगों में रोजगार की सौगात

news

रतलाम, 17 जुलाई(हि.स.)। प्रवासी श्रमिकों के लिए शासन की योजना के तहत स्थाई रोजगार देने के लिए रोजगार मेलों का आयोजन प्रारंभ किया गया है। शुक्रवार को आयोजित रोजगार मेले में 107 प्रवासी श्रमिकों को विभिन्न उद्योगों में रोजगार के अवसर मिले तथा 204 श्रमिकों को भी रोजगार के आफर लेटर मिलने वाले है। मेले में जिले में स्थापित उद्योग नियोक्ताओं द्वारा शामिल होकर अपनी जरुरत के अनुसार श्रमिको का चयन किया गया। मुख्य अतिथि सांसद गुमानसिंह डामोर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्किल इंडिया कार्यक्रम आरंभ करके श्रमिक कौशल में वृद्धि तथा बेहतर रोजगार के लिए कार्य किया है। राज्य शासन ने देश के अन्य स्थानों पर लॉकडाउन में फंसे प्रदेश के श्रमिकों को कुशलता के साथ उनके घर पहुंचाया। इसके बाद रोजगार उपलब्ध कराने की चुनौती थी, केंद्रीय शासन ने मनरेगा में गांव-गांव में काम खोल दिए। प्रधानमंत्री द्वारा मनरेगा का बजट दुगना कर दिया गया इसके साथ ही मुफ्त राशन भी श्रमिकों को उपलब्ध कराया गया। विधायक डा. राजेंद्र पांडे ने कहा कि स्थानीय स्तर पर स्थानीय व्यक्तियों को रोजगार मिले। जिला प्रशासन द्वारा लॉकडाउन में भी अत्यंत सराहनीय कार्य किया गया, मजदूरों को घर पहुंचाने जैसा चुनौतीपूर्ण कार्य बखूबी किया गया। ग्रामीण विधायक दिलीप मकवाना ने भी संबोधित किया। कलेक्टर रूचिका चौहान ने बताया कि जिले में 11163 प्रवासी श्रमिक आए हैं, अधिकतर सैलाना, बाजना क्षेत्र के हैं। रोजगार सेतु पोर्टल पर इनका पंजीयन करवाया गया है नियोक्ताओं का भी सहयोग लिया गया है। उद्योगपति गौरव पोरवाल ने कहा कि यह शुरुआत है जैसे-जैसे फैक्ट्रियां खुलती जाएंगी वैसे-वैसे श्रमिकों को रोजगार के अधिकाधिक अवसर मालवा चेंबर ऑफ कॉमर्स द्वारा उपलब्ध कराए जाने में कोई कोर कसर बाकी नहीं रखी जाएगी। इस अवसर पर अधिकारीगण तथा बड़ी संख्या में प्रवासी श्रमिक शामिल हुए। हिन्दुस्थान समाचार/ शरद जोशी-hindusthansamachar.in