रीवा: सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस बोवड़े ने किया मीडिएशन सेन्टर ई-लोकार्पण
रीवा: सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस बोवड़े ने किया मीडिएशन सेन्टर ई-लोकार्पण
मध्य-प्रदेश

रीवा: सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस बोवड़े ने किया मीडिएशन सेन्टर ई-लोकार्पण

news

रीवा, 18 अक्टूबर (हि.स.)। समाज में मध्यस्था के माध्यम से सुलह समझौते को बढ़ावा देने एवं मध्यस्थता प्रक्रिया को सुलभ और सुविधापूर्ण बनाने के उद्देश्य से जिले के मऊगंज स्थित न्यायालय परिसर में नव निर्मित मध्यस्थता केन्द्र का रविवार को सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश एसए बोवड़े द्वारा ई-लोकार्पण किया गया। इस अवसर पर मप्र उच्च न्यायालय के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधिपति एवं अध्यक्ष राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण संजय यादव, विधिक सेवा समिति के अध्यक्ष जस्टिस सुजाय पाल, गिरिबाला सिंह उपस्थित थीं। जिला विधिक सहायता अधिकारी अभय कुमार मिश्रा ने बताया कि तहसील न्यायालय परिसर मऊगंज में स्थित नव निर्मित मध्यस्था केन्द्र के ई-लोकार्पण में जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अरुण कुमार सिंह, तहसील विधिक सेवा समिति के अध्यक्ष पंकज सिंह माहेश्वरी, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव विपिन कुमार लवानिया, न्यायाधीश कपिल नारायण भारद्वाज, नीरज सिंह, दिव्या सिंह, आकांक्षा टेकाम, पूर्णिमा सिंह, जिला विधिक सहायता अधिकारी अभय कुमार मिश्रा, पीआईयू के अनुविभागीय अधिकारी संजीव कालरा, इंजीनियर दिलीप पुरी एवं न्यायिक कर्मचारी उपस्थित थे। उन्होंने बताया कि इस अवसर पर मीडिएशन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने अपने उद्बोधन में कहा कि मीडिएशन विवाद के अविलंब एवं शीघ्र समाधान की आसान प्रक्रिया है। जिसमें दोनों पक्षों की सहमति को महत्व दिया जाता है और उसी के आधार पर मध्यस्थ निर्णय पारित करता है। इससे समय व धन दोनों की बचत के साथ-साथ तनाव से भी मुक्ति प्राप्त होती है। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश/राजूू-hindusthansamachar.in