रीवा के के चार गांवों में चूना पत्थर का अकूत भण्डार
रीवा के के चार गांवों में चूना पत्थर का अकूत भण्डार
मध्य-प्रदेश

रीवा के के चार गांवों में चूना पत्थर का अकूत भण्डार

news

खनिज विभाग ने शुरू कर दी नीलामी प्रक्रिया की कवायद रीवा, 17 जुलाई (हि.स.)। जिले में एक और खनिज संपदा का भंडार मिला है। इस बार सीमेंट बनाने के लिए रा मटेरियल में उपयोग होने वाले चूना-पत्थर का 55 लाख टन का भंडार चिन्हित किया गया है। खनिज विभाग द्वारा सर्वे दल की रिपोर्ट पर नीलामी प्रक्रिया की कवायद शुरू कर दी गई है। सर्वे दल की रिपोर्ट के मुताबिक हुजूर और रायपुर कर्चुलियान तहसील के बार्डर एरिया में बड़े पैमाने पर चूना-पत्थर का भंडार मिला है। 235 हेक्टेयर का एरिया चिन्हित रायपुर कर्चुलियान तहसील के चार गांवों में 235 हेक्टेयर एरिया में चूना पत्थर का भंडार मिला है। शासन के पत्र पर जिला खनिज कार्यालय ने चूना पत्थर के चिन्हित किए गए गांवों में ब्लाक बनाए जाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। प्रारंभिक चरण में प्रस्तावित गांवों मं ब्लाक तैयार किया जा रहा है। अब तक तीन ब्लाक तैयार किए गए हैं। दस्तावेज के मुताबिक शहरी क्षेत्र से सटे कोष्ठा सहित चोरगढ़ी, पटना, पहडिय़ा और पुरैनी में 235 हेक्टेयर एरिया में चूना पत्थर की खदानों के लिए तीन अलग-अलग छोटे-छोटे ब्लाक तैयार किए गए हैं। वर्ष 2014 से किया गया सर्वे जिले में खनिज संपदा के भंडार को चिन्हित करने के लिए खनिज विभाग का सर्वे दल वर्ष 2014 से सर्वे कर रहा था। रायुपुर कर्चुलियान और हुजूर तहसील के बार्डर एरिया में पॉच ग्राम पंचायतों के एरिया में चूना पत्थर का भंडार चिन्हित किया गया है। पॉच पंचायतों में चूना पत्थर का भंडार जिला खनिज अधिकारी रत्नेश दीक्षित ने बताया कि रायपुर कर्चुलियान क्षेत्र के चार से पांच गांवों में चूना-पत्थर के ब्लाक बनाए जाने की प्रक्रिया चल रही है। जिला मुख्यालय से जुड़े क्षेत्र कोष्ठा, चोरगढ़ी, पटना, पहडिय़ा, पुरैनी पंचायत में चूना-पत्थर का भंडार चिन्हित किया गया है। कागजी प्रक्रिया पूरी कर शासन को प्रस्ताव भेज दिया गया है। शासन की गाइड लाइन पर अगली प्रक्रिया पूरी की जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार / विनोद शुक्ल-hindusthansamachar.in