रिमझिम बारिश धान की फसलों के लिए अमृत, किसानों के चेहरे पर लौटी खुशी
रिमझिम बारिश धान की फसलों के लिए अमृत, किसानों के चेहरे पर लौटी खुशी
मध्य-प्रदेश

रिमझिम बारिश धान की फसलों के लिए अमृत, किसानों के चेहरे पर लौटी खुशी

news

अनूपपुर, 22 सितम्बर (हि.स.)। जिले में बंगाल की खाड़ी में बनी हवा के निम्न दवाब और बदले मौसम के मिजाज में पिछले दो दिनों से लगातार बारिश की बौछार गिर रही हैं। बारिश की बौछार कभी मध्य तो कभी बड़ी बूंदों के आकार और हल्की हवाओं के साथ बरस रही है। जिसमें जिला मुख्यालय अनूपपुर सहित जैतहरी, कोतमा, बिजुरी, राजेन्द्रग्राम और अमरकंटक सहित ग्रामीण क्षेत्रों पानी पानी हो गए हैं। वहीं आसमान में काले बादलों की जमघट अभी भी गहराया है। आंकड़ों के अनुसार जिले में पिछले 24 घंटे के दौरान 43 मिमी से अधिक वर्षा दर्ज की गई है। अनुमान है कि अभी कुछ दिनों तक बारिश के हालात इसी प्रकार बने रहेंगे। आसमान में बदलों की छाए होने के कारण दो दिनों से सूर्यदेव के दर्शन नहीं हुए हैं। लगातार बारिश के कारण मौसम में भी ठंडापन आ गया है। कृषि विभाग उपसंचालक एनडी गुप्ता ने बताया कि यह बारिश वर्तमान धान की फसलों सहित खरीफ की फसलों के लिए अमृत सामान है। हल्की बारिश की बौछार के साथ तेज बारिश के कारण यह धरती में अधिक समय तक नमी बनाने में सक्षम होगी। नमी बने होने से बालियां पुष्ट तैयार होगी और किसानों का सिंचाई पर आने वाला अतिरिक्त खर्च बच जाएगा। वर्तमान में धान की फसलें तैयार हो गई है, फूल के साथ बालियां आएगी। ऐसे में बेहतर दाने के लिए किसानों द्वारा सिंचाई की जाती है, लेकिन लगातार बारिश से धान की फसल को अमृत मिल गया है। वैसे भी कहा जाता है कि धन्य धन्य भाग्य हमारे, जिस धरती बरसे कुंआर। हिन्दुस्थान समाचार/ राजेश शुक्ला-hindusthansamachar.in