रिकार्ड तोड़ रही सर्दी, ग्‍वालियर में 9 डिग्री से नीचे पहुंचा पारा
रिकार्ड तोड़ रही सर्दी, ग्‍वालियर में 9 डिग्री से नीचे पहुंचा पारा
मध्य-प्रदेश

रिकार्ड तोड़ रही सर्दी, ग्‍वालियर में 9 डिग्री से नीचे पहुंचा पारा

news

- पहाड़ी इलाकों से आ रहीं सर्द हवाएं, सबसे सर्द रही रविवार की सुबह ग्वालियर, 22 नवम्बर (हि.स.)। उत्तर भारत के पहाड़ी इलाकों से आ रहीं सर्द हवाओं के प्रभाव से सर्दी ने नवम्बर में ही पिछले दो साल का रिकार्ड तोड़ दिया है। रविवार को न्यूतनत तापमान 8.7 डिग्री सेल्सियस पर ही ठिठक गया, जो इस मौसम में अब तक का सबसे कम है। अब तक के सबसे कम न्यूनतम तापमान के साथ रविवार की सुबह सबसे सर्द रही। मौसम विभाग की मानें तो न्यूतनम तापमान फिलहाल सात से आठ डिग्री सेल्सियस के आसपास ही टिका रहेगा। रविवार को सुबह से ही मौसम लगभग शुष्क रहा, हालांकि दोपहर बाद आसमान में आंशिक बादल नजर आए। साथ ही चार किलो मीटर प्रति घंटे की गति से उत्तर पश्चिमी सर्द हवाएं भी चलती रहीं। इसके चलते पिछले दिन की तरह आज भी अधिकतम तापमान 24.7 डिग्री सेल्सियस पर ही टिका रहा, जो औसत से 3.0 डिग्री सेल्सियस कम है, लेकिन न्यूनतम तापमान 1.8 डिग्री सेल्सियस गिरावट के साथ 8.7 डिग्री सेल्सियस पर ही थम गया। यह भी औसत से 2.0 डिग्री सेल्सियस कम है। इसी प्रकार सुबह हवा में नमी 88 प्रतिशत दर्ज की गई, जो सामान्य से 22 प्रतिशत अधिक है, जबकि शाम को हवा में नमी घटकर 55 प्रतिशत दर्ज की गई, जो सामान्य से मात्र तीन प्रतिशत कम है। मौमस विभाग के अनुसार इससे पहले सबसे कम न्यूनतम तापमान 27 नवम्बर 2018 को 8.0 25 नवम्बर 2017 को 6.3 और 16 नवम्बर 2013 को 8.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। स्थानीय मौसम विज्ञानी सी.के. उपाध्याय का कहना है कि उत्तर से आ रहीं सर्द हवाओं की वजह से तापमान में गिरावट आई है। चूंकि अब आसमान में आंशिक बादल आ गए हैं, इसलिए तापमान में ज्यादा उलटफेर की संभावना नहीं है। फिलहाल तापमान आठ से नौ डिग्री सेल्सियस के आसपास बना रहेगा। इस बार सर्दी के दिन बढऩे की संभावना: प्रशांत महासागर में ला-नीना के प्रभाव की वजह से पिछले सालों की अपेक्षा इस बार जहां कड़ाके की सर्दी पडऩे की संभावना है वहीं सर्दी का मौसम बढ़ भी सकता है। मौसम विभाग के अनुसार इस बार सर्दी का मौसम 15 दिन ज्यादा रहेगा और दिसम्बर के दूसरे सप्ताह से जनवरी अंत तक शीत लहर का प्रकोप भी बना रहने की संभावना है। हिन्दुस्थान समाचार/शरद/राजू-hindusthansamachar.in