राष्ट्रीय लाइब्रेरी फाउंडेशन के महानिदेशक ने की स्कूल शिक्षा मंत्री से मुलाकात
राष्ट्रीय लाइब्रेरी फाउंडेशन के महानिदेशक ने की स्कूल शिक्षा मंत्री से मुलाकात
मध्य-प्रदेश

राष्ट्रीय लाइब्रेरी फाउंडेशन के महानिदेशक ने की स्कूल शिक्षा मंत्री से मुलाकात

news

शालेय पुस्तकालयों में पंचायती राज संस्थाओं की सक्रिय भूमिका होगी-शिक्षा मंत्री भोपाल, 16 सितम्बर (हि.स.)। राष्ट्रीय राजा राममोहन राय लाइब्रेरी फाउंडेशन, कोलकता के महानिदेशक अजय प्रताप सिंह ने बुधवार को भोपाल प्रवास के दौरान मंत्रालय पहुंचकर प्रदेश के स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) इन्दर सिंह परमार से मुलाकात की। इस दौरान मंत्री परमार ने कहा कि शालेय पुस्तकालयों की स्थापना में पंचायती राज संस्थाओं की सहभागिता सुनिश्चत करना है। इससे शालेय पुस्तकालयों को जन सहयोग भी प्राप्त होगा और सामुदायिक सहभागिता भी बढ़ेगी। इसके लिए प्रस्तावित पुस्तकालय अधिनियम में आवयश्यक बातें जोड़ी जा रही हैं। उन्होंने फाउंडेशन के माध्यम से पुस्तकालय स्थापना, उनका सुचारू संचालन, पूर्व से संचालित पुस्तकालयों को सुदृढ़ बनाने और व्यवस्थित करने संबंधी मुद्दो पर स्कूल शिक्षा मंत्री से चर्चा की। राष्ट्रीय लाइब्रेरी फाउंडेशन के महानिदेशक अजय प्रताप सिंह ने लोक शिक्षण आयुक्त जयश्री कियावत, राज्य शिक्षा केंद्र आयुक्त लोकेश कुमार जाटव, उप सचिव अनुभा श्रीवास्तव और केके द्विवेदी से भी मुलाकात की। उन्होंने स्कूल शिक्षा विभाग के मैदानी अधिकारियों, ग्रंथपाल एवं नोडल अधिकारियों से प्रस्तावित पुस्तकालय अधिनियम एवं आवश्यक संशोधनों पर विस्तृत चर्चा की। उल्लेखनीय है कि राजा राममोहन राय लायब्रेरी फाउंडेशन एक केन्द्रीय स्वायत्त संस्थान है। यह भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय द्वारा वित्त पोषित है। यह देश में सार्वजनिक पुस्तकालय सेवाओं को समर्थन देने और देश में सार्वजनिक पुस्तकालयों के आन्दोलन को बढ़ावा देने के लिये समर्पित है। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश-hindusthansamachar.in