मेडिकल से बुखार-सर्दी की दवाई लेने वाले व्यक्तियों का रिकार्ड संधारित कराने के निर्देश
मेडिकल से बुखार-सर्दी की दवाई लेने वाले व्यक्तियों का रिकार्ड संधारित कराने के निर्देश
मध्य-प्रदेश

मेडिकल से बुखार-सर्दी की दवाई लेने वाले व्यक्तियों का रिकार्ड संधारित कराने के निर्देश

news

अनूपपुर, 23 जुलाई (हि.स.)। नियमित रूप से सैम्प्लिंग करें, संक्रमितों की प्रारम्भिक स्थिति में पहचान संक्रमण नियंत्रण के लिए अहम है। सहरुग्णता वाले व्यक्तियों, वृद्ध कोरोना संक्रमितों पर विशेष ध्यान रखे। यह निर्देश शुक्रवार को जिले के प्रभारी एवं खनिज विभाग के सचिव सुखवीर सिंह ने सर्किट हाउस राजेंद्रग्राम में जिले में कोरोना संक्रमण की स्थिति एवं तैयारियों की वर्तमान स्थिति की समीक्षा के दौरान दिये। बैठक में शहडोल संभागायुक्त नरेश पाल, कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर, सीईओ जिला पंचायत मिलिंद नागदेवे,एसडीएम विजय डहेरिया, सीएमएचओ डॉ बीडी सोनवानी, सिविल सर्जन डॉ एससी राय सहित अन्य प्रशासनिक एवं चिकित्सा विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे। प्रभारी सचिव ने किल कोरोना अभियान, टेस्टिंग क्षमता एवं उपचार हेतु सुविधाओं की समीक्षा में निर्देश दिए कि फ्रंटलाइन वर्कर, चिकित्सकीय स्टाफ एवं अन्य सेवा प्रदाताओं की भी नियमित रूप से स्क्रीनिंग करते रहें। मेडिकल स्टोर से बुखार, सर्दी, खाँसी आदि लक्षणों की दवाई लेने वाले व्यक्तियों का रिकार्ड संधारित करें एवं टेलीमेडिसिन टीम सतत रूप से ऐसे व्यक्तियों के स्वास्थ्य पर निगरानी रखे। कलेक्टर ने बताया कि किल कोरोना अभियान अंतर्गत जिले के 157272 परिवारों के 809359 व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की गई है। जिसमे 764 व्यक्तियों में आईएलआई, 2305 व्यक्तियों में बुखार के लक्षण पाए गए। 1107 व्यक्तियों के नमूने जाँच के लिए भेजे गए। कलेक्टर ने जिले में कोरोना की अद्यतन स्थिति की के बारे में बताया कि जिले में अब तक कुल 69 संक्रमित मिले हैं, जिनमे से 35 व्यक्ति स्वस्थ होने पर घर जा चुके हैं। वर्तमान में कोरोना संक्रमितों की संख्या 34 है, जिनका कोविड केयर सेंटर अनूपपुर में उपचार चल रहा है, सभी का स्वास्थ्य स्थिर है। जिसमे 34 में 8 व्यक्ति 60 वर्ष से अधिक आयु के हैं तथा सहरुग्णता वाले व्यक्तियों को चिह्नांकित करके विशेष ध्यान रखा जा रहा है। कलेक्टर ने बताया कि वर्तमान में जिले में 30 ऑक्सीजन सप्लाई सुविधा युक्त बेड हैं तथा 177 ऑक्सिजन सिलिंडर हैं। 3 वेंटीलेटर कोरोना संक्रमितों को चिन्हित करके जिला चिकित्सालय आइसोलेशन वार्ड में रखे गए हैं। 2 और वेंटिलेटर आ चुके हैं, उन्हें शीघ्र ही इंस्टॉल कर दिया जाएगा। जिला चिकित्सालय में 10 आईसीयू बेड का कार्य लगभग पूर्ण हो चुका है। कोविड केयर सेंटर में 480 बेड की क्षमता है। टेस्टिंग की क्षमता में वृद्धि हेतु प्रयास किया जाएगा और शीघ्र ही एक और ट्रूनाट मशीन जिला चिकित्सालय में स्थापित की जायेगी, इसके लिए स्टाफ को प्रशिक्षित किया जा चुका है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि जिले में 8 फीवर क्लीनिक संचालित हैं। जिनमे अब तक 4 एसएआरआई एवं 2440 आईएलआई एवं बुखार के 1672 मामले आए। जिनमे से 1021 के सैम्पल टेस्टिंग हेतु भेजे गए तथा 1371 को होम आइसोलेशन की सलाह दी गई तथा स्वास्थ्य दल द्वारा नियमित रूप से निगरानी की जा रही है। हिन्दुस्थान समाचार/ राजेश शुक्ला-hindusthansamachar.in