मेट्रोपॉलिटन एरिया में सांवेर- शिप्रा को शामिल ना कर भाजपा सरकार ने किया धोखा- नरेंद्र सलूजा
मेट्रोपॉलिटन एरिया में सांवेर- शिप्रा को शामिल ना कर भाजपा सरकार ने किया धोखा- नरेंद्र सलूजा
मध्य-प्रदेश

मेट्रोपॉलिटन एरिया में सांवेर- शिप्रा को शामिल ना कर भाजपा सरकार ने किया धोखा- नरेंद्र सलूजा

news

इंदौर/ भोपाल, 16 सितम्बर (हि.स.)। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बुधवार को जारी अपने एक बयान में प्रदेश के भोपाल व इंदौर को महानगर क्षेत्र ( मेट्रोपॉलिटन एरिया) में बदलने के निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि पूर्व के कमलनाथ सरकार के इंदौर शहर के प्रस्तावित प्लानिंग एरिया को कम कर शहर के सुनियोजित विकास के साथ शिवराज सरकार ने बड़ा धोखा किया है। सलूजा ने बताया कि शिवराज सरकार के प्रस्ताव के मुताबिक मेट्रोपॉलिटन अथॉरिटी के प्लानिंग एरिया में इंदौर शहर का 1200 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल ही शामिल होगा और इसमें सिर्फ महूँ- पीथमपुर ही शामिल होंगे। वही कमलनाथ सरकार ने मेट्रोपॉलिटन अथॉरिटी के प्लानिंग एरिया में इंदौर के 2000 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल को शामिल करने का निर्णय लिया था। इसमें महू-पीथमपुर के साथ-साथ देवास और उज्जैन को भी शामिल किया था, इसके पीछे बढ़ती आबादी को देखते हुए, आगामी वर्ष 2050 तक की विकास योजना की प्लानिंग हो सके। शहर का सम्पूर्ण, सर्वांगीण,चहुमुखी विकास हो सके। उन्होंने कहा कि अब सिर्फ महूँ-पीथमपुर को ही शामिल करने से इस जोन का तो बेहतर विकास होगा लेकिन उज्जैन रोड और धार रोड विकसित नहीं हो पाएंगे। कमलनाथ सरकार ने पूरे उज्जैन शहर तक व देवास को प्लानिंग एरिया में जोड़ा था, जिससे आगामी 25 वर्ष तक बढ़ती आबादी को देखते हुए इंदौर के सुनियोजित विकास को लेकर काम किया जा सके। सलूजा ने कहा कि मेट्रोपॉलिटन अथॉरिटी के प्लानिंग एरिया में यदि उज्जैन रोड और धार रोड को नहीं लिया गया, तो यह क्षेत्र अविकसित रह जाएगा और हमारे इंदौर शहर का विकास एक अपाहिज की भाँति होगा। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने सांवेर व शिप्रा को भी मेट्रोपॉलिटिन अथॉरिटी में शामिल नहीं कर यहाँ की जनता के साथ भी धोखा किया है। सांवेर की जनता के साथ यह धोखा है और कांग्रेस आगामी उपचुनाव में इसे मुद्दा बनाएगी, साथ ही कांग्रेस इस लड़ाई को भी लड़ेगी कि पूर्व की कमलनाथ सरकार के प्रस्ताव के मुताबिक ही प्लानिंग एरिया के क्षेत्रफल को बढ़ाकर 2000 वर्ग किमी करते हुए इसमें उज्जैन रोड, धार रोड व देवास तक के एरिया को शामिल किया जाये, जिससे संपूर्ण इंदौर का सर्वांगीण, सुनियोजित विकास हो सके। हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा पाण्डेय-hindusthansamachar.in