मिट्टी को जीवित रखना, मिट्टी की जैव विविधता की रक्षा करना आज की महती आवश्यकता-डाॅ.ढालसिंह बिसेन
मिट्टी को जीवित रखना, मिट्टी की जैव विविधता की रक्षा करना आज की महती आवश्यकता-डाॅ.ढालसिंह बिसेन
मध्य-प्रदेश

मिट्टी को जीवित रखना, मिट्टी की जैव विविधता की रक्षा करना आज की महती आवश्यकता-डाॅ.ढालसिंह बिसेन

news

-विश्व मृदा दिवस के अवसर पर कृषि विज्ञान केंद्र सिवनी में कार्यक्रम संपन्न सिवनी, 08 दिसंबर(हि.स.)। मिट्टी को जीवित रखना, मिट्टी की जैव विविधता की रक्षा करना आज की महती आवश्यकता है यह बात सिवनी जिले के कृषि विज्ञान केंद्र में विश्व मृदा दिवस के अवसर पर सिवनी-बालाघाट के सांसद डाॅ.ढालसिंह बिसेन ने किसानों को संबोधित करते हुए कही है इस बात की जानकारी कृषि विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ एन.के. सिंह ने दी है। वरिष्ठ वैज्ञानिक सिंह ने बताया कि बीते दिन मृदा दिवस के अवसर पर किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग द्वारा कृषि विज्ञान केंद्र, सिवनी परिसर में विश्व मृदा दिवस मनाया गया। इस दौरान कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सांसद बालाघाट-सिवनी डॉ. ढालसिंह बिसेन ने किसानों को संबोधित करते हुए मिट्टी के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए मिट्टी की जांच की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि मिट्टी को जीवित रखना, मिट्टी की जैव विविधता की रक्षा करना आज की महती आवश्यकता है। आगे बताया कि कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही जिला पंचायत अध्यक्ष सिवनी श्रीमती मीना बिसेन द्वारा कृषकों से मिट्टी की महत्ता के बारे में प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि आज रासायनिक खेती में जमीन कडी होती जा रही है। हमे जैविक खेती को बढावा देने की आवश्यकता है। जिला अध्यक्ष भाजपा आलोक दुबे द्वारा अपने उद्बोधन में जैविक खेती अपनाने एवं किसान सम्मान निधि योजना की जानकारी से उपस्थित कृषकों को अवगत कराया। प्रमंडल सदस्य जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय जबलपुर ओम ठाकुर द्वारा धरती माता के स्वास्थ्य को बनाये रखने एवं खेती में जैविक आदानों के उपयोग को बढावा देने पर जोर दिया। इस कार्यक्रम में कृषि विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख डॉ एन.के. सिंह, कृषि विज्ञान केंद्र, सिवनी के वैज्ञानिक गण डॉ ए.पी. भण्डारकर, डॉ के.के. देशमुख द्वारा भी मृदा से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी से अवगत कराया गया। हिन्दुस्थान समाचार/रवि-hindusthansamachar.in