महाअष्टमी: उज्जैन में कलेक्टर ने चढ़ाई देवी को मदिरा, मैहर और सलकनपुर में भक्तों का तांता
महाअष्टमी: उज्जैन में कलेक्टर ने चढ़ाई देवी को मदिरा, मैहर और सलकनपुर में भक्तों का तांता
मध्य-प्रदेश

महाअष्टमी: उज्जैन में कलेक्टर ने चढ़ाई देवी को मदिरा, मैहर और सलकनपुर में भक्तों का तांता

news

भोपाल,24 अक्टूबर (हि.स.)। कोरोना की परवाह न करते हुए महाअष्टमी पर्व पर देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं की जबरदस्त भीड़ उमड़ रही है। उज्जैन में कलेक्टर आशीष सिंह ने 24 खंभा माता को मदिरा चढ़ाकर नगर पूजा की शुरुआत की, तो मैहर और सलकनपुर के देवी मंदिरों में सुबह से भक्तों का तांता लगा हुआ है। सलकनपुर में सुबह से करीब 30 हजार श्रद्धालु बिजासन माता के दर्शन कर चुके हैं। उज्जैन में विगत 500 वर्षों से चल रही परंपरा का निर्वाह करते हुए कलेक्टर आशीष सिंह ने महाअष्टमी पर शनिवार को सुबह 8.30 बजे चौबीस खंभा माता मंदिर में देवी को मदिरा चढ़ाकर नगर पूजा की शुरूआत की। इस अवसर पर प्रशासन के कर्मचारी, कोटवार तथा बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे। कलेक्टर ने महालया एवं महामाया मंदिरों में पूजा करके नगर पूजा यात्रा की शुरुआत की। यह यात्रा 27 किलोमीटर की होगी। शहर के विभिन्न मंदिरों में पूजा-अर्चना करते हुए यात्रा करीब 12 घंटों का सफर तय करके महाकाल मंदिर पहुंचेगी, जहां भगवान महाकाल को शिखर ध्वज चढ़ाकर यात्रा का समापन होगा। इस यात्रा की खास बात यह है कि यात्रा के दौरान मदिरा की धार लगातार बहती रहेगी। इसके लिए एक मटके में मदिरा भरकर उसमें छेद कर दिया जाता है और रास्ते भर मदिरा बहती रहती है। मां शारदा का हुआ विशेष श्रृंगार महाअष्टमी पर्व पर देश के 51 शक्तिपीठों में से एक प्रसिद्ध मैहर वाली मां शारदा का दरबार रूप से सजाया गया है। मां शारदा का विशेष श्रृंगार हुआ और आरती की गई। शासन से दिशा-निर्देश मिलने के बाद इस बार मां शारदा के धाम मैहर में खास इंतजाम किए गए हैं। हाथ सैनिटाइज करने और मास्क लगाने के बाद ही श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश दिया गया। हजारों भक्तों के आने की उम्मीद के चलते पुलिस और प्रशासन ने पहले से ही तैयारियां कर रखी थी। सीढिय़ों के रास्ते पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। सलकनपुर में लगा भक्तों का तांता राजधानी भोपाल के समीप स्थित सीहोर जिले के सलकनपुर धाम में देवी बिजासन के दर्शन के लिए शनिवार तड़के 3 बजे से ही भक्तों भीड़ शुरू हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार सुबह 9 बजे तक करीब 30 हजार श्रद्धालु माता बिजासन के दर्शन कर चुके थे। मंदिर तक पहुंचने के लिए श्रद्धालुओं ने रोपवे, सड़क मार्ग और सीढ़ियों का सहारा लिया। हिन्दुस्थान समाचार/केशव दुबे-hindusthansamachar.in