मप्र : रात्रि कर्फ्यू ने बढ़ाई शादी वाले घरों की टेंशन, बारात का मुहूर्त हो चुका है तय
मप्र : रात्रि कर्फ्यू ने बढ़ाई शादी वाले घरों की टेंशन, बारात का मुहूर्त हो चुका है तय
मध्य-प्रदेश

मप्र : रात्रि कर्फ्यू ने बढ़ाई शादी वाले घरों की टेंशन, बारात का मुहूर्त हो चुका है तय

news

भोपाल, 22 नवम्बर (हि.स.)। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण बढ़ने के चलते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल, इंदौर, ग्वालियर समेत पांच जिलों में रात्रि कर्फ्यू (रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक) लगा दिया है। यह शनिवार की रात से प्रभावी भी हो गया है। सरकार के इस आदेश ने शादी समारोह की पूरी तैयारियां कर चुके परिवारों के सामने संकट खड़ा कर दिया है। दरअसल, हिन्दू समाज में देवउठनी एकादशी से शादियों का सीजन शुरू हो रहा है। इस बार कोरोना के चलते लाकडाउन व अन्य प्रतिबंधों के कारण लम्बे समय से कई परिवारों में शादियां लम्बित हैं। इसीलिए आगामी 25 नवम्बर को देवउठनी एकादशी पर सैकड़ों परिवारों में शादियां होनी है। अकेले भोपाल शहर में 25 नवम्बर को करीब 200 शादियों के लिए परिवारों ने मैरिज गार्डन और शादी हॉल से लेकर बैंड बाजा तक चार माह पहले ही बुक कर लिए हैं। अब सरकार ने रात में कर्फ्यू लगा दिया है, ऐसे में सभी परिवारों के सामने अपने बच्चों की शादियों को लेकर संकट पैदा हो गया है। शादी वाले परिवारों की सबसे बड़ी समस्या शादी विवाह व रिसेप्शन में शामिल होने वाले लोगों की संख्या को लेकर है। सबसे ज्यादा परेशानी का सबब रात 10 बजे से सुबह 6.00 बजे तक लागू कर्फ्यू है। रात को तय मुहुर्त के अनुसार बारात कर्फ्यू के कारण नहीं निकल पाएगी। रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक यदि कर्फ्यू रहेगा तो कैसे रिसेप्शन हो सकेगा। होटल एवं मैरिज गार्डन संचालकों ने पूर्व की अनुमति के आधार पर रिसेप्शन और शादियों की बुकिंग कर ली थी। अब वह न तो पैसे वापस करेंगे और न ही शादी व रिसेप्शन सही तरीके से हो सकेगा। लोगों को भी शादी में आने से मना नहीं किया जा सकता है। अब करें तो क्या। उन परिवारों पर संकट के बादल छा गए हैं, जिन्होंने शादी समारोह के लिए मैरिज गार्डन, शादी हॉल व होटलों की बुकिंग करा ली है। इस साल वैसे भी शादियों के मुहूर्त बहुत कम बचे हैं। देवउठनी एकादशी को अबूझ मुहूर्त कहा जाता है, इसलिए इस दिन बड़ी संख्या में शादियां होंगी। इसके बाद आगामी 12 दिसम्बर तक ही शादियों के मुहूर्त है। इसके बाद खरमास लग जाएगा, जिसके चलते एक माह तक शादियां नहीं हो पाएंगी। ऐसे में शादी वाले परिवार टेंशन में आ गए हैं। हालांकि, अभी जिला प्रशासन की तरफ से कोई आदेश जारी नहीं हुआ है। इस संबंध में गृह विभाग द्वारा आज (रविवार को) विस्तृत गाइडलाइन जारी की जाएगी। इसके बाद जिला प्रशासन गाइडलाइन के अनुसार निर्णय लेगा। हिन्दुस्थान समाचार/ मुकेश/रामानुज-hindusthansamachar.in