मध्य प्रदेश में मौसम ने ली करवट, कड़ाके की ठंड के साथ बारिश की भी संभावना
मध्य प्रदेश में मौसम ने ली करवट, कड़ाके की ठंड के साथ बारिश की भी संभावना
मध्य-प्रदेश

मध्य प्रदेश में मौसम ने ली करवट, कड़ाके की ठंड के साथ बारिश की भी संभावना

news

भोपाल, 13 नवम्बर (हि.स.)। मध्य प्रदेश में मौसम ने तेजी से करवट बदली है। पिछले दो दिनों से पारा लगातार नीचे जा रहा है। उत्तर भारत की तरफ से आ रही सर्द हवाओं के कारण राजधानी भोपाल सहित प्रदेश के अधिकतर जिलों में अब ठंड का असर बढऩे लगा है। बुंदेलखंड के ग्रामीणों इलाकों में तो कड़ाके की ठंड ने हाड़ कंपना शुरू कर दिया है। मौसम वैज्ञानिकों ने भी प्रदेश में आने वाले दिनों में तेजी से ठंड बढऩे उम्मीद जताई है। इसके साथ ही कुछ स्थानों पर बारिश गिरने की भी संभावना है, जिससे ठंड का असर ओर तेज हो जाएगा। राजधानी भोपाल में पिछले तीन दिनों लगातार पारा गिरता जा रहा है। भोपाल में दिन का तापमान 27 डिग्री के नीचे पहुंच गया, जबकि शाम के वक्त भी पारा तेजी से नीचे जा रहा है। अगले कुछ दिनों में राजधानी भोपाल सहित रायसेन, विदिशा, सागर, दमोह, टीकमगढ़, छतरपुर, ग्वालियर, मुरैना, भिंड, श्योपुर सहित अन्य कई जिलों में कड़ाके की ठंड पडऩे के आसार जताए गए हैं। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक अजय शुक्ला ने जानकारी देते हुए बताया कि इस वक्त उत्तर भारत में जमकर बर्फबारी हो रही है। जिससे उत्तराखंड, हिमाचल सहित अन्य राज्यों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। यहां 13 से 15 नवंबर के बीच एक तीव्र सिस्टम बनने के आसार बताए जा रहे हैं। जिससे उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड के साथ सर्द हवाएं चलने की उम्मीद है। लिहाजा इन हवाओं का असर मध्य प्रदेश की तरफ होता है तो आने वाले कुछ दिनों में ग्वालियर चंबल के जिलों में जिनमें ग्वालियर, शिवपुरी, मुरैना, श्योपुर, भिंड जिले में बारिश की संभावना जताई गयी है। अगर बारिश होती है तो ठंड के तेवर और तीखे हो सकते हैं। मौसम विभाग के मुताबिक मध्य प्रदेश के मैदानी इलाकों में सबसे ज्यादा ठंड पढ़ रही है। बुंदेलखंड अंचल के सागर, छतरपुर और टीकमगढ़ जिले में ठंड का असर दिखने लगा है। यहां सुबह और शाम के वक्त पारा तेजी से नीचे जाने की वजह से ठंड बढ़ गयी। हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा पाण्डेय/राजूू-hindusthansamachar.in