मजदूरों को रोजगार की मांग को लेकर औद्योगिक नगर नागदा बंद रहा
मजदूरों को रोजगार की मांग को लेकर औद्योगिक नगर नागदा बंद रहा
मध्य-प्रदेश

मजदूरों को रोजगार की मांग को लेकर औद्योगिक नगर नागदा बंद रहा

news

नागदा/उज्जैन, 16 सितम्बर (हि.स.)। ग्रेसिम उद्योग में ठेका मजदूरों को रोजगार की मांग को लेकर उज्जैन जिले में स्थित औद्योगिक नगर नागदा बुधवार को बंद रहा। बंद का आव्हान शहर कांग्रेस कमेटी ने किया था। क्षेत्र के कांग्रेस विधायक दिलीपसिंह गुर्जर की अगुवाई में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मुख्य मार्गो पर नारेबाजी के साथ पैदल मार्च किया। व्यापरियों ने स्वेच्छा से अपने प्रतिष्टान बंद रखे। बंद का असर मंडी और औद्योगिक इलाके बिड़लागा्रम दोनों में देखा गया। हालांकि शहर के सभी उद्योगों में उत्पादन हुआ। उद्योगों को बंद से दूर रखा गया था। व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहने से सडक़ों पर सन्नाटा पसरा रहा। सुबह से कांग्रेस कार्यकर्ता बाजार में उतर गए थे। दोपहर तक किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना के समाचार नहीं मिले हैं। विधायक गुर्जर स्वयं कार्यकर्ताओं के साथ सडक़ पर उतरे। इस दौरान नारे बाजी भी जमकर की गई। विधायक गुर्जर का कहना है कि कोरोना महामारी के बाद ग्रेसिम उद्योग में लगभग 3 हजार मजदूरों को काम नही मिल रहा है। जबकि प्रबंधन ने उद्योग को चला रखा है। लगभग 5 माह से घर बैठे ठेका मजदूरों के सामने अब रोज-रोटी का संकट खड़ा हो गया है। ऐसी स्थिति में श्रमिकों को कार्य देने की मांग को लेकर शहर बंद का आव्हान किया गया है। बंद के दौरान जिला कार्यवाहक अध्यक्ष सुबोध स्वामी, राधेजायसवाल समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने पैदल मार्च में भाग लिया। हिन्दुस्थान समाचार/ कैलाश सनोलिया-hindusthansamachar.in