भोपाल में फिर मिले 190 नये मरीज, 10 दिन के लॉकडाउन के निर्देश के बाद दुकानों पर उमड़ी भीड़
भोपाल में फिर मिले 190 नये मरीज, 10 दिन के लॉकडाउन के निर्देश के बाद दुकानों पर उमड़ी भीड़
मध्य-प्रदेश

भोपाल में फिर मिले 190 नये मरीज, 10 दिन के लॉकडाउन के निर्देश के बाद दुकानों पर उमड़ी भीड़

news

भोपाल, 23 जुलाई (हि.स.)। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। यहां बुधवार को रिकार्ड 215 नये संक्रमित मिलने के बाद गुुरुवार को सुबह फिर 190 नये मामले सामने आए हैं। वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लगातार बढ़ते कोरोना मरीजों की देखते हुए बुधवार देर शाम मंत्रालय में हुई कोरोना समीक्षा बैठक में भोपाल में 24 जुलाई को रात आठ बजे से तीन अगस्त को रात आठ बजे तक 10 दिन का लॉकडाउन लगाने के निर्देश दिये। इसके बाद गुरुवार को सुबह से ही दुकानों पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। भोपालवासी 10 दिन के लॉकडाउन की तैयारियों में जुटे गए हैं और जरूरी सामान की खरीदारी करने बाजार में निकल पड़े हैं। भोपाल सीएमएचओ डॉ. प्रभाकर तिवारी के अनुसार, भोपाल में बुधवार को 215 नये संक्रमित मिले थे। यह एक दिन में अब तक की सबसे बड़ी संख्या थी। इसके बाद गुरुवार को सुबह प्राप्त रिपोर्ट में फिर 190 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें हिनोतिया आरएएफ कैंपस और आरएफ कैंपस से मिले 3-3 मरीज, सीआरपीएफ से भी 2 जवान और पीएचक्यू में सीआईडी मुख्यालय से एक महिला कर्मी, ईएमई सेंटर से 4, शिवाजी नगर निवासी एक डॉक्टर, इसी इलाके में एक परिवार के पांच सदस्य और नवीन नगर में एक परिवार के 4 सदस्यों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके अलावा कटारा हिल्स, तुलसी नगर, एमपीएससी फाइनेंस, ईदगाह हिल्स, अरेरा कॉलोनी, बरखेड़ा पठानी, रिवेरा टाउन, अशोका गार्डन, समेत कई क्षेत्रों से कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। इधर, राज्य सरकार ने राजधानी भोपाल में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए 24 जुलाई रात आठ बजे से 10 दिन के लिए फिर लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार सुबह ट्वीट कर कहा है कि भोपाल में कोरोना संक्रमण की स्थिति और नागरिकों के हित को देखते हुए 24 जुलाई से 10 दिन का लॉकडाउन करने का फैसला किया गया है। लॉकडाउन के दौरान दवाई, फल, सब्जी और दूध सहित सभी आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की जाएगी। उन्होंने भोपालवासियों से से नियमों के पालन के साथ कोरोना को लेकर सावधानी बरतने का अनुरोध किया। भोपाल में 10 दिन के लॉकडाउन की घोषणा के बाद गुरुवार सुबह से शॉपिंग मॉल और किराना दुकानों पर जरूरी सामान लेने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी है। यहां किराना दुकानों और शापिंग मॉल्स में सुबह सात बजे से ही लोगों की लंबी-लंबी कतारें लगी हुई हैं। वहीं, लॉकडाउन की घोषणा से व्यापारी आक्रोषित हैं। इस बार लंबे लॉकडाउन के कारण व्यापारियों को अक्षय तृतीया एवं मांगलिक सीजन की ग्राहकी से हाथ धोना पड़ा था, जिससे उन्हें लाखों का नुकसान हुआ। अब रक्षाबंधन की तैयारियों में जुटे व्यापारियों ने अपनी दुकानों में सामान भर लिया था, लेकिन फिर 10 दिन के लॉकडाउन से यह सीजन भी खाली निकलने वाला है। भोपाल के थोक वस्त्र व्यवसाय संघ के अध्यक्ष कन्हैया इसरानी का कहना है कि इस बार मांगलिक सीजन में बाजार बंद होने से थोक एवं फुटकर व्यापारियों को लाखों रुपये का नुकसान उठाना पड़ा। अब रक्षाबंधन एवं सावन माह में फिर से लॉकडाउन लगाया जा रहा है। इससे छोटे व्यापारी भूखे मरने की कगार पर पहुंच जाएंगे। सरकार को टोटल लॉकडाउन के बचाय कुछ घंटे बाजार खुला रखने की अनुमति देनी चाहिए। वहीं, रेडीमेड व्यापारी ईश्वर संभानी का कहना है कि लम्बे लॉकडाउन के बाद कुछ दिनों से दुकानों पर ग्राहक आने शुरू हुए थे, लेकिन फिर से लॉकडाउन की घोषणा कर दी गई है। इससे रक्षाबंधन पर भी ग्राहकी नहीं हो पाएगी। हम घर का खर्च कैसे चलाएंगे। सरकार को छोटे व्यवसायिकों के बारे में विचार करना चाहिए। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश तोमर-hindusthansamachar.in