भोपाल: पर्दे से खेल रहा था बच्चा, उसी से लग गई फांसी, 10 दिन बाद मौत
भोपाल: पर्दे से खेल रहा था बच्चा, उसी से लग गई फांसी, 10 दिन बाद मौत
मध्य-प्रदेश

भोपाल: पर्दे से खेल रहा था बच्चा, उसी से लग गई फांसी, 10 दिन बाद मौत

news

भोपाल, 10 सितम्बर (हि.स.)। राजधानी के अयोध्या नगर थाना क्षेत्र में घर के दरवाजे पर लगे पर्दा 10 वर्षीय बच्चे की मौत की वजह बन गया। पर्दे को झूला बनाकर खेल रहा बच्चा पैर फिसलने से गिर गया और पर्दा उसके लिए फंदा बन गया। 10 दिन तक जिंदगी और मौत के बीच झूलते रहने के बाद गुरुवार को उसकी मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार एक फैक्ट्री के कर्मचारी भवानी धाम फेस-1 निवासी पंकज शर्मा ने अपने 10 वर्षीय बेटे नैतिक शर्मा को गत 29 अगस्त की शाम एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। वह पहले दिन से ही वेंटिलेटर पर था। अंतिम उम्मीद लिए परिजन निजी अस्पताल से बेटे की छुट्टी करा कर बुधवार शाम उसे हमीदिया अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने चेकअप के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। अयोध्या नगर पुलिस को इसकी सूचना अस्पताल से मिली। पुलिस अधिकारी अरविंद सिंह ने बताया कि बच्चे का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। टूट गई थी नैतिक के गले की हड्डी निजी अस्पताल के डॉक्टरों का कहना है कि पर्दे पर झटके से गर्दन फंसने के कारण एक फंदे की तरह बन गया। इस झटके से बच्चे की गर्दन की हड्डी टूट गई, जिससे नर्वस सिस्टम ने काम करना बंद कर दिया था। लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर उसे 72 घंटे तक ऑब्जरवेशन में रखा गया, लेकिन कुछ काम नहीं आया। परिजन के कहने पर नैतिक का लगातार इलाज किया जाता रहा। हिन्दुस्थान समाचार/केशव दुबे-hindusthansamachar.in