भोपाल के बाजार खुलने के मैसेज को पूर्व महापौर ने बताया फर्जी
भोपाल के बाजार खुलने के मैसेज को पूर्व महापौर ने बताया फर्जी
मध्य-प्रदेश

भोपाल के बाजार खुलने के मैसेज को पूर्व महापौर ने बताया फर्जी

news

भोपाल : मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए 10 दिन का लॉकडाउन किया गया है। बुधवार को लॉकडाउन का पांचवां दिन है और आगामी तीन अगस्त तक यहां के बाजार पूरी तरह बंद रहेंगे। इस 10 दिन के लॉकडाउन के बीच सोशल मीडिया पर एक मैसेज वायरल हो रहा है, जिसमें कहा जा रहा है कि भोपाल में 30 जुलाई से 4 अगस्त तक बाजार खुल जाएंगे। पूर्व महापौर आलोक शर्मा ने अपने नाम से चल रहे इस मैसेज को फर्जी बताया है। उन्होंने बुधवार को सुबह सोशल मीडिया के माध्यम से इस फर्जी मैसेज को पोस्ट किया है, साथ ही कहा कि मैंने इस तरह का कोई बयान जारी नहीं किया है। उन्होंने इस मामले में पुलिस से भी शिकायत कर दी है। जल्द ही ऐसे भ्रामक संदेश जारी करने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी। आलोश शर्मा के नाम से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा यह फर्जी मैसेज… भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व महापौर आलोक शर्मा ने कहा कि आज हुई आपदा प्रबंधन समूह की बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि 30 जुलाई से 4 अगस्त तक भोपाल शहर के सभी बाजारों को पूरी तरह से खोला जाएगा। आपदा प्रबंधन समूह ने अपील की है कि इस दौरान जो भी व्यक्ति हाई ब्लड प्रेशर शुगर आदि गंभीर बीमारियों के मरीज हैं, वह संभव हो तो बाहर ना निकलें। शर्मा ने कहा कि शहर के विभिन्न बाजारों के संगठनों ने स्वयं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाने और खरीददारों को मास्क लगवाने की जवाबदारी ली है। व्यापारियों से कहा गया है कि जो लोग बिना मास्क के सामान खरीदने आएं उन्हें बिल्कुल सामान नहीं दिया जाए। शर्मा ने कहा कि अब भोपाल की जनता को अपनी जवाबदारी निभाना है कि वह इस काल में कितनी सतर्कता रख सकते है। पूर्व महापौर ने दी सफाई पूर्व महापौर आलोक शर्मा ने बुधवार को इस मैसेज को लेकर अपनी ओर से सफाई पेश की है। उन्होंने कहा है कि उनके हवाले से सोशल मीडिया में प्रसारित 30 जुलाई से बाजार खुलने की खबर पूर्णत: भ्रामक और असत्य है। किसी शरारती तत्व द्वारा इस खबर को चलाया गया है। जिसकी संबधित थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी गई है।-newsindialive.in