भाजपा के मूल कार्यकर्ता की सक्रियता पर सबकी निगाहें
भाजपा के मूल कार्यकर्ता की सक्रियता पर सबकी निगाहें
मध्य-प्रदेश

भाजपा के मूल कार्यकर्ता की सक्रियता पर सबकी निगाहें

news

- पोहरी व करैरा में विधानसभा उपचुनाव में भाजपा रणनीति में जुटी - मंडल स्तर के कार्यकर्ताओं से ज्योतिरादित्य करेंगे संवाद शिवपुरी, 06 अक्टूबर (हि.स.)।शिवपुरी जिले के पोहरी व करैरा में होने वाले उपचुनाव को लेकर भाजपा अपने मूल कार्यकर्ताओं को एक्टिव करने की रणनीति में जुट गई है। दोनों सीटों पर भाजपा का जमीनी कार्यकर्ता सक्रिय हो इसके लिए वरिष्ठ नेताओं ने बागडौर संभालना शुरू कर दिया है। मप्र में पिछले दिनों हुए दलबदल के कारण कांग्रेस छोड़कर आए सिंधिया समर्थक पूर्व विधायकों का करैरा व पोहरी से इनका प्रत्याशी होना लगभग तय है। ऐसे में पार्टी का जो मूल कार्यकर्ता है वह पार्टी के लिए काम करे इसके लिए पार्टी द्वारा सबको सक्रिय करने की रणनीति पर काम हो रहा है। दोनों विधानसभा क्षेत्रों में पार्टी के मूल कार्यकर्ताओं को कुछ ने कुछ काम दिए जा रहे हैं साथ ही उपचुनाव को लेकर उन्हें चुनावी कामकाज दिया जा रहा है जिससे उनके अनुभव का लाभ चुनाव में मिले। ज्योतिरादित्य करेंगे भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ संवाद- भाजपा के मूल कार्यकर्ता से कांग्रेस से आए नेताओं से मेलमिलाप बढ़ाने के उद्देश्य से आने वाले समय में राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के भी मंडल स्तर पर दौरे का कार्यक्रम आ गया है। ग्वालियर-चंबल संभाग में 8 अक्टूबर से ज्योतिरादित्य सिंधिया के दौरे हो रहे हैं। इसमें ज्योतिरादित्य सिंधिया 11 अक्टूबर को करैरा व पोहरी के बैराड़ में पहुंचकर मंडल पोलिंग बूथ समिति सम्मेलन में भाग लेंगे। इस सम्मेलन का उद्देश्य ही यही है कि पार्टी के मूल कार्यकर्ताओं के साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया का संवाद बढ़ाया जाए। संगठनात्मक स्तर पर भाजपा मजबूत- वैसे जिले की दोनों विधानसभा सीट करैरा व पोहरी में देखा जाए तो कांग्रेस के मुकाबले संगठनात्मक स्तर पर भाजपा मजबूत है। कारण यह कि कांग्रेस के जो नेता व पदाधिकारी थे उनमें से अधिकांश सिंधिया समर्थक थे और उनके पार्टी छोड़ने के बाद इनमें से अधिकांश नेताओं ने कांग्रेस छोड़ दी है। ऐसे में भाजपा को संगठन का जो सेटअप पहले से जमा थे उसमें पार्टी का मूल कार्यकर्ता जब तक एक्टिव नहीं होगा तो काम नहीं चलेगा। इसलिए भाजपा के वरिष्ठ नेताओं का मानना है कि पार्टी के मूल कार्यकर्ता को सक्रिय किया जाए जिससे विधानसभा जीतने में आसानी हो। हिन्दुस्थान समाचार/ रंजीत गुप्ता /राजू-hindusthansamachar.in