बुज़ुर्ग कैदी ने जेल में लगाई फांसी, आयोग ने मांगी रिपोर्ट
बुज़ुर्ग कैदी ने जेल में लगाई फांसी, आयोग ने मांगी रिपोर्ट
मध्य-प्रदेश

बुज़ुर्ग कैदी ने जेल में लगाई फांसी, आयोग ने मांगी रिपोर्ट

news

भोपाल, 27 जुलाई (हि.स.)। मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग ने होशंगाबाद जिले के पिपरिया उपजेल में एक बुजुर्ग कैदी द्वारा फांसी लगाए जाने की घटना पर संज्ञान लिया है। इस मामले में आयोग ने पुलिस महानिदेशक, जेल एवं सुधारात्मक सेवाएं, म.प्र. शासन एवं जेल अधीक्षक, होशंगाबाद से तत्काल प्रतिवेदन मांगा है। मानव अधिकार आयोग से प्राप्त जानकारी के अनुसार बीती रात एक वृद्ध कैदी ने पिपरिया उपजेल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। उपजेल के जेलर प्रहलाद वरकडे ने बताया कि धारा 307, 302, 34 का आरोपी राधेलाल पिता धनराज किरार ग्राम भैरोपुर तहसील बनखेड़ी का रहने वाला था। उसने रात्रि करीब 3.55 पर जेल के बाथरूम में अपनी धोती को फांसी का फंदा बनाकर आत्महत्या कर ली। जिसकी सूचना जेल प्रहरी ने पुलिस को दी। मौके पर एसडीएम, बीएमओ, पुलिस स्टॉफ के साथ जेल पहुंचे। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौप दिया गया है। मृतक के परिजन लक्ष्मण व निर्भय का कहना है कि मृतक मानसिक रूप से जिद्दी था। बीएमओ ने बताया कि पोस्टमार्टम में मृतक के शरीर पर चोट के निशान नहीं पाये गये हैं। इलाज के दौरान बंदी की मौत भोपाल जिले के गांधीनगर थानान्तर्गत केन्द्रीय जेल में सजा काट रहे एक बंदी की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गई। पुलिस के मुताबिक नत्थु पुत्र बब्बू हत्या के मामले में सजा काट रहा था। बीते गुरूवार की रात में कैदी को पेट दर्द होने के कारण हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां शुक्रवार सुबह उसने दम तोड दिया। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है। इस मामले में आयोग ने पुलिस महानिदेशक, जेल एवं सुधारात्मक सेवाएं, म.प्र. शासन एवं केन्द्रीय जेल अधीक्षक, भोपाल से चार सप्ताह में प्रतिवेदन मांगा है। हिन्दुस्थान समाचार/केशव दुबे-hindusthansamachar.in