बिजली समस्या को लेकर ग्रामीणों ने कलेक्ट्रेट पर किया प्रदर्शन
बिजली समस्या को लेकर ग्रामीणों ने कलेक्ट्रेट पर किया प्रदर्शन
मध्य-प्रदेश

बिजली समस्या को लेकर ग्रामीणों ने कलेक्ट्रेट पर किया प्रदर्शन

news

गुना, 12 सितम्बर (हि.स.)। सरकार की जनहितैषी योजनाओं का लाभ पात्र हितग्राहियों को हकीकत में कितना मिल रहा है। इसका एक उदाहरण शनिवार को शहर के हनुमान चौराहा पर देखने को मिला। जब बिजली समस्या से परेशान होकर सिंगवासा चक्क की ग्रामीण महिलाएं सडक़ पर बैठ गईं। जिससे जाम की स्थिति निर्मित हो गई। सूचना लगते ही पुलिस बल मौके पर पहुंचा और महिलाओं को जाम लगाने के मामले में कार्रवाई की धमकी देकर उठा दिया। इसके बाद महिलाएं पैदल कलेक्ट्रेट पहुंची। जहां पहले से गांव के अन्य ग्रामीण भी मौजूद थे। इन सभी ग्रामीणों ने अधिकारियों को अपनी पीड़ा बताई तो उन्हें विश्वास नहीं हुआ कि गांव में पिछले लंबे समय से लाइट नहीं है। अधिकारियों ने ग्रामीणों की समस्या ठीक ढंग से जानने केे वजाए उनसे कहा कि पहले तुम उस व्यक्ति को सामने लाओ जिसने तुम्हें यह सब करने के लिए उकसाया है। जिसके बाद एक भीड़ में से ही एक व्यक्ति निकलकर सामने आया। जिससे अधिकारियों ने गांव में बिजली समस्या के बारे में जानकारी ली। बताया गया कि बीते 6 माह से गांव में बिल्कुल भी लाइट नहीं है। जब खेतों में पानी लग रहा था तब कृषि फीडर पर बिजली सप्लाई चालू थी, उसी दौरान केवल सिंगल फेस लाइट ग्रामीणों को मिली। लेकिन सिंचाई होने के बाद इस फीडर पर बिजली सप्लाई बंद हो गई। जिसके बाद से गांव के सभी लोग लाइन के बिना ही जीवन यापन करने को मजबूर हैं। मौके पर मौजूद ग्रामीण महिलाओं ने अपनी पीड़ा मुखर होते हुए अधिकारियों के समक्ष बयां करते हुए कहा कि जब तक हमारे गांव में लाइट चालू नहीं होगी तब तक हम सभी यहीं कलेक्ट्रेट में बैठे रहेंगे। जिस पर डिप्टी कलेक्टर आरबी सिंडोस्कर ने कहा कि जहां बैठना है वहां बैठ जाओ। इसी दौरान जब ग्रामीणों का आक्रोश पुलिस अधिकारियों ने देखा तो उन्होंने ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया। वहीं तहसीलदार संदीप श्रीवास्तव ने स्थिति को भांपते हुए बिजली अधिकारी को मौके पर बुलाया और समस्या निराकरण के लिए अधिकारी को गांव भी भेजा। श्रीवास्तव का कहना था कि ग्रामीण कई बार बिजली समस्या की शिकायत कर चुके हैं। आखिर इनके गांव में लंबे समय से बिजली समस्या क्यों बनी हुई है, इसे तुम गांव में जाकर देखो। आक्रोशित महिलाएं बोली, सडक़ पर शव रख करेंगे प्रदर्शन तब मानेंगे क्या अधिकारी लंबे समय से गांव में बिजली समस्या से परेशान ग्रामीण महिलाएं जब अपना आक्रोश जाहिर करने हनुमान चौराहा पर जाकर सडक़ पर बैठीं तो उन्हें पुलिस ने जाम लगाने के मामले में कार्रवाई करने की धमकी देकर उठा दिया। जिससे गुस्साई महिलाएं बोलीं लाइट न होने से अंधेरे में हमारे बच्चों को जहरीले कीड़े काट रहे हैं। कई लोगों की मौत अंधेरे में सर्पदंश से हो चुकी है। यह अधिकारी तब मानेंगे जब हम लाश को सडक़ पर रखकर प्रदर्शन करेंगे। यह बोले जिम्मेदार सिंगवासा चक्क की ग्रामीण महिलाएं बिजली समस्या को लेकर हनुमान चौराहा पर सडक़ पर बैठ गई थीं। वहां से पुलिस ने उन्हें उठा दिया था। जिसके बाद महिलाएं व अन्य ग्रामीण कलेक्ट्रेट आए। उनका कहना था कि गांव में पिछले कई सालों से लाइट नहीं है। हमने समस्या निराकरण के लिए बिजली अधिकारी को गांव में भेजा है। वह यथास्थिति को देखने के बाद समस्या का निराकरण करेंगे। आरबी सिंडोस्कर, डिप्टी कलेक्टर हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक-hindusthansamachar.in