बिजली बिल को लेकर पूर्व मंत्री ने सरकार को घेरा, कहा- भाजपा ने सबका सत्यानाश कर दिया
बिजली बिल को लेकर पूर्व मंत्री ने सरकार को घेरा, कहा- भाजपा ने सबका सत्यानाश कर दिया
मध्य-प्रदेश

बिजली बिल को लेकर पूर्व मंत्री ने सरकार को घेरा, कहा- भाजपा ने सबका सत्यानाश कर दिया

news

भोपाल, 24 जुलाई (हि.स.)। कोरोना काल में भी बिजली कंपनियों द्वारा अधिक बिजली बिल की वसूली पर कांग्रेस ने सरकार का घेराव किया है। शुक्रवार को पूर्व मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक पीसी शर्मा ने पत्रकार वार्ता कर सरकार के कोरोना काल के बिजली बिल माफ करने की मांग की है। इस दौरान उन्होंने सरकार पर जमकर निशाना भी साधा। बढ़े हुए बिजली के दामों को लेकर पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने शुक्रवार को अपने निवास पर एक पत्रकार वार्ता को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार बनने के बाद पूर्व सीएम कमलनाथ ने शपथ लेते ही दो फाइलों पर हस्ताक्षर किए थे। जिसमें पहला कर्जमाफी औऱ दूसरा 100 रुपये में 100 यूनिट बिजली का वादा था। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि पूर्व में सम्बल योजना का विरोध करने वाले मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया को आज संबल योजना बढिय़ा लग रही है। भाजपा घोषणा तो कर देती है लेकिन उन पर अमल नहीं करती। पीसी शर्मा ने आरोप लगाते हुए कहा कि स्लम एरिया में रहने वाले लोगों के यहां बिजली बिल एक लाख, 75 हजार और 50 हजार तक आ रहे हैं। स्लम एरिया में रहने वाला इतनी बिजली कभी नहीं जला जा सकता है। तमाम तरह के टैक्स बिजली बिल में लगाये जा रहे हैं। पूर्व मंत्री ने सरकार से मांग करते हुए कहा कि बिल भी आधे किये जाने की घोषणा की गई थी लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। इसलिए कांग्रेस की सरकार से मांग है कि गरीबों के लाखों - हजारों के बिल माफ हो और सभी से 200 रुपये बिजली का बिल लिया जाए। उन्होंने कहा कि कोरोना काल मे छोटे उद्योग बंद रहे फिर भी व्यापारियों से लाखों रुपये के बिजली बिल वसूले जा रहे हैं, जोकि गलत है। सरकार पर हमला बोलते हुए पीसी शर्मा ने कहा कि गाँवो में बिजली बिल की वसूली के लिए मोटरसाइकिल - टैक्टर पर नोटिस चस्पा किये जा रहे हैं। भाजपा सबका साथ सबका विकास की बात करती थी, लेकिन भाजपा ने सबका सत्यानाश कर दिया है। हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा पाण्डेय-hindusthansamachar.in