बाल श्रमिकों तथा बाल भिक्षावृत्ति  रोकने के लिए चाइल्ड लाईन तथा  पुलिस का विशेष अभियान
बाल श्रमिकों तथा बाल भिक्षावृत्ति रोकने के लिए चाइल्ड लाईन तथा पुलिस का विशेष अभियान
मध्य-प्रदेश

बाल श्रमिकों तथा बाल भिक्षावृत्ति रोकने के लिए चाइल्ड लाईन तथा पुलिस का विशेष अभियान

news

रतलाम, 13 सितम्बर (हि.स.)। पुलिस चाईल्ड लाइन, चाइल्ड वैलफैयर कमेटी, महिला बाल विकास के संयुक्त प्रयास से भिक्षावृत्ति कर रहे नाबालिग बालक-बालिका को दस्तायब कर उन्हें उनके माता-पिता के सुपूर्द करने का अभियान शुरू किया गया। अभियान के अंतर्गत मंदिरों या अन्य सार्वजनिक स्थानों पर भिक्षावृत्ति या बाल श्रम कर रहे नाबालिग बालक-बालिका या बाल श्रम कर रहे बालक-बालिकाओं को दस्तयाब किया जाकर उनके माता-पिता की जानकारी निकाली जाएगी एवं जो भी व्यक्ति बालक-बालिकाओं से भिक्षावृत्ति करता पाए जाएगा या इस संबंध में कोई संगठित गिरोह की संलिप्तता पाई जाती है तो उनके विरूद्ध कठौर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी एवं जो माता-पिता सक्षम होते हुए बच्चों से भिक्षावृत्ति करा रहे है उनके विरूद्ध भी कठोर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। इस संबंध में चाइल्ड लाइन व जिला पुलिस द्वारा कार्रवाई करते हुए राम मंदिर व अलकापुरी क्षेत्र से 4 नाबालिग, कालका माता क्षेत्र से 3 नाबालिग, माणकचौक इलाके से 3 नाबालिग एवं दीनदयाल नगर से 2 नाबालिग कुल 12 नाबालिग भिक्षावृत्ति करते पाए जाने पर दस्तायेब किए गए, जिनका मेडिकल परीक्षण कराया गया एवं मेडिकल परीक्षण उपरांत सभी नाबालिगों को चाइल्ड वैलफैयर कमेटी के समक्ष प्रस्तुत किए गए। कमेटी के समक्ष सभी 12 नाबालिगों के माता-पिता उपस्थित हुए जिनके दस्तावेजों की तस्दीक उपरांत बच्चों को उनके सुपूर्द किया गया एवं भविष्य में भिक्षावृत्ति न कराए जाने के संबंध में बॉन्ड भरवाए जाएंगे। उपरोक्त अभियान सतत जारी रहेगा एवं जनता से अपील है कि यदि इस प्रकार के कोई नाबालिग बालक-बालिका भिक्षावृत्ति या बाल श्रम करते दिखाई दे तो चाइल्ड लाइन के नंबर 1098 पर या पुलिस कंट्रोल रुम के नंबर 7049162265 पर सूचित करने का कष्ट करे। सूचनाकर्ता की पहचान को गोपनीय रखा जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार/ शरद जोशी-hindusthansamachar.in