प्रयास एक पहल कमजोर तबके के लिए बना मददगार
प्रयास एक पहल कमजोर तबके के लिए बना मददगार
मध्य-प्रदेश

प्रयास एक पहल कमजोर तबके के लिए बना मददगार

news

अशोकनगर, 22 नवम्बर(हि.स.)। जिले में प्रयास एक पहल ग्रुप सामाजिक सरोकार रखते हुए सामाजिक क्षेत्र में अपनी अग्रणी भूमिका निभा रहा है। ग्रुप के नवयुवक-युवतियां सामाजिक क्षेत्र में जो अपनी भागीदारी दिखा रहे हैं, उनके इस प्रयास की पहल तारीफे काबिल कही जा सकती है, कि बिना किसी जन सहयोग के स्वयं के बल कमजोर तबके के लोगों की मदद करना ही नहीं बल्कि जन सामान्य के क्षेत्र में उनकी कार्यों की प्रभावी भूमिका दिखाई देती है। ऐसा ही माजरा जिले के शाढौरा कस्बे के गांधी नगर बस्ती में शनिवार देर शाम तब देखने को आया ग्रुप के सदस्य उक्त गांधी नगर में पहुंचे। जहां उनके द्वारा लगाई गई एक कपड़ों की दुकान नजर आई। पर वह कपड़ों की दुकान नहीं बल्कि बस्ती के आदिवासी बच्चों को वितरित किए जाने वाले कपड़े थे। ग्रुप की अध्यक्षा छाया बैस ने रविवार को हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि उन्हें जानकारी लगी थी कि गांधीनगर आदिवासी बस्ती है, पर यहां शासन की योजनाओं का अभाव दिखाई देता है। सामाजिक सरोकार रखने वाली छाया बैस का कहना है कि उक्त बस्ती का नाम तो गांधी नगर है पर गांधी जी द्वारा जो दलित वर्ग के उत्थान की जो कल्पना की गई थी, वह वहां दिखाई नहीं देती। उनका कहना है कि गांधीनगर गांव में करीब 70-80 आदिवासी समाज के बच्चे हैं, जो कि 5वीं कक्षा से अधिक पड़े नहीं हैं। उनके ग्रुप का प्रयास था कि इनके उत्थान के लिए जो संभव हो किया जा सके। इसी उद्देश्य को लेकर उनके ग्रुप के आपसी सहयोग से वस्त्र एकत्रित कर बच्चों को वस्त्र वितरित करने का कार्यक्रम आयोजित किया गया। उनका मानना है कि उक्त वर्ग के बच्चों के उत्थान के लिए जो संभव मदद होगी प्रयास एक पहल ग्रुप मदद करेगा। साथ ही उन्होंने कहा कि गांधी नगर की दलित बस्ती में जिला प्रशासन आवश्यक रूप से कार्रवाई करना चाहिए, ताकि सभी को शासन की योजनाओं का लाभ मिल सके। हिन्दुस्थान समाचार/ देवेन्द्र-hindusthansamachar.in