पुलिस ने पकड़ा अवैध शराब बनाने का कारखाना, पांच गिरफ्तार, उपकरण सहित भारी मात्रा में शराब बरामद
पुलिस ने पकड़ा अवैध शराब बनाने का कारखाना, पांच गिरफ्तार, उपकरण सहित भारी मात्रा में शराब बरामद
मध्य-प्रदेश

पुलिस ने पकड़ा अवैध शराब बनाने का कारखाना, पांच गिरफ्तार, उपकरण सहित भारी मात्रा में शराब बरामद

news

रतलाम, 21 अक्टूबर (हि.स.)। जिले में अवैध रुप से शराब बनाने के कई कारखाने चल रहे हैं। इसका पता इस बात से लगता है कि पुलिस द्वारा लगातार मारे जा रहे छापों में भारी मात्रा में शराब तथा शराब बनाने के उपकरण बरामद हो रहे हैं। बिलपांक थाना क्षेत्र में भी शराब बनाने की एक बड़ी अवैध फेक्ट्री पुलिस ने पकड़ी तथा काफी मात्रा में अवैध शराब व उपकरण जप्त कर पांच आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने बुधवार को थाना बिलपांक में पत्रकारों से बातचीत में बताया कि 19 अक्टूबर को थाना नामली द्वारा मुखबिर की सूचना पर ग्राम नायन थाना नामली में आरोपित लोकेन्द्रसिंह के घर दबिश दी तथा उसके कब्जे से 90 लीटर अवैध कच्ची महुआ की शराब, दो पेटी प्लेन देशी व एक पेटी मेकडाल विस्की जप्त की जाकर 34 (2) आबकारी अधिनियम के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है। अवैध शराब के संबंध में आरोपित से पूछताछ करने पर उसने बताया कि ग्राम संदला थाना बिलपांक के रुपसिंह सोनगरा से वह शराब लाया था। रुपसिंह की गिरफ्तारी हेतु दबिश देने पर आरोपित की अल्टो कार से 800 पेटी प्लेन देशी शराब व 1 पेटी मेकडाल विस्की जप्त हुई। वाहन से आरोपित विकास भवानीशंकर पाटीदार को गिरफ्तार किया गया, जिसे भी आरोपित बनाकर पूछताछ की गई। दोनों आरोपितों ने पूछताछ में उक्त शराब को ग्राम झर से लालजी उर्फ जशवंतसिंह के द्वारा देना बताया। लालजी उर्फ जसवंतसिंह स्प्रीट से शराब बनाने की फेक्ट्री का संचालन करता था। इस संबंध में एक टीम का गठन किया गया, जिसके द्वारा जसवंतसिंह राजपूत के पुराने घर पर दबिश दी गई तथा सख्ती से पूछताछ किए जाने पर मकान के अंदर शक्तिसिंह पुत्र मोहनसिंह राजपूत निवासी अरजला के साथ मिलकर स्प्रीट से अवैध रुप से शराब बनाना स्वीकार किया। तलाशी लेने पर दोनों के कब्जे से घर के अंदर रखे पानी के चार केंपर मिले, जिसमें करीब 50 लीटर शराब स्प्रीट से बनी हुई बरामद की तथा एक केंपर से पांच लीटर स्प्रीट बरामद किया। जसवंत सिंह के मकान परिसर स्थित झाडिय़ों के अंदर कुई दिखी, जिसकों चेक करने पर कुई के अंदर शराब केे भरे हुए क्वार्टर छिपाकर रखे हुए दिखे, जिन्हें बाहर निकाला गया तो 850 क्वार्टर जिनमें कुल मात्रा शराब 153 बल्क लीटर मिली। गहनता से तलाश करने पर शराब बनाने के उपकरण में एक झोले से 145 साबून बरामद हुए तथा 192 क्वाटरों के पैकेट मिले, जिसमें प्रत्येक पैकेट में 120 क्वाटर भरे हुए थे, इसके अलावा खाकी रंग के 800 कार्टून, 700 ढक्कन, प्लास्टिक के पाईप, पानी की मोटर, प्लास्टिक के टप, ड्रम, केम्पर, ढक्कन तथा होलोग्राम लेबल भी मिले। इस प्रकार कुल 230 लीटर शराब, 5 लीटर स्प्रीट तथा शराब बनाने के उपकरण जप्त किए गए। इनके पास किसी प्रकार का कोई लायसेंस भी नहीं पाया गया। लालजी उर्फ जसवंतसिंह से पूछताछ के दौरान 50 बोरी यूरिया खाद के साथ-साथ शराब सप्लाय के लिए तीन मोटर साइकल भी जप्त की गई। गिरफ्तार पांच आरोपितों में लालजी उर्फ जसवंतसिंह पुत्र गट्टासिंह निवासी झर, प्रदीप रामलाल नाई निवासी झर, शक्तिसिंह पुत्र मोहनसिंह राजपूत निवासी अरजला, लोकेन्द्रसिंह पुत्र डुंगरसिंह निवासी नायन थाना नामली, विकास (19) पुत्र भवानी शंकर पाटीदर निवासी बम्बोरी थाना बिलपांक शामिल है, जबकि दो आरोपित अंकुश जायसवाल निवासी खाचरौद तथा रुपसिंह यादव निवासी संदला थाना बिलपांक फरार है। हिन्दुस्थान समाचार/ शरद जोशी-hindusthansamachar.in