पाबंदियों के बीच मनेगा राखी का त्यौहार
पाबंदियों के बीच मनेगा राखी का त्यौहार
मध्य-प्रदेश

पाबंदियों के बीच मनेगा राखी का त्यौहार

news

गुना, 30 जुलाई (हि.स.)। भाई-बहन के पवित्र प्यार का प्रतीक रक्षा बंधन का त्यौहार 3 अगस्त को पडऩे जा रहा है। त्यौहार पर बहुत कुछ पहले जैसा ही होगा, किन्तु कोरोना संक्रमण काल के चलते तमाम पाबंदिया भी नागरिकों को झेलनी पड़ेंगी। मसलन लोग त्यौहार तो मना सकते हैं और बाजार में खरीददारी भी कर सकते हैं, वहीं बहनें अपने भाई की कलाई पर राखी बांधकर उनकी लंबी आयु की प्रार्थना भी ईश्वर से कर सकती है, किन्तु कोरोना संक्रमण काल में खरीददारी के दौरान जहां सामाजिक दूरी बनाए रखनी होगी तो मास्क भी पहनना होगा। इसके साथ ही कोविड-19 को लेकर निर्धारित नियमों का भी पालन करना होगा। बहनें खरीद रहीं राखी, भाई ले रहे उपहार राखी के त्यौहार में अब सिर्फ तीन दिन का समय शेष रह गया है। इससे पहले शहर में राखी का बाजार सज गया है। दुकानों पर जहां विभिन्न किस्मों की राखियां उपलब्ध है तो फुटपाथ और ठेलों पर भी आकर्षक राखियां सजकर बिक्री के लिए उपलब्ध है। इन राखियों को खरीदने के लिए दुकानों पर बड़ी संख्या में बहनें पहुंच रही है, वहीं भाई भी अपनी प्यारी बहना को उपहार देने के लिए बाजार पहुंच रहे है। इस बीच मास्क तो पहने भाई-बहन दिख रहे है, किन्तु सामाजिक दूरी के नियम का पालन नहीं हो पा रहा है। हालांकि दुकानदार और लोग बार-बार हाथों को सेनेटाइज करते जरुर देखे जा रहे हैं। लॉकडाउन में मिल सकती है कुछ हद तक छूट राखी का त्यौहार 3 अगस्त यानि सोमवार को है। इससे पहले शनिवार और रविवार को दो दिन का घोषित फुल लॉकडाउन है। जिससे पर्व को लेकर लोगों की परेशानी बढऩे वाली है। जहां दुकानदारों का कहना है कि त्यौहार से पहले लगातार दो दिन लॉक डाउन रहने से उन्हे काफी नुकसान उठाना पड़ेगा तो माह के तीन तारीख को राखी पडऩे से कर्मचारियों के हाथ वेतन भी नहीं आ पाएगा। इसलिए 1 अगस्त को वह खरीददारी कैसे कर पाएंगे? वहीं 3 अगस्त को वह राखी मनाएंगे या खरीददारी करेंगे। इस समस्या के चलते लॉक डाउन में छूट देने की मांग उठाई जा रही है। वैसे कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने पर्व के लिहाज से फुटपाथी दुकानदार और ठेले वालों को फुल लॉक डाउन में छूट देने की बात कही है, किन्तु आदेश जारी नहीं हुआ है, वहीं कलेक्टर ने यह भी स्पष्ट किया है कि अगर इस दौरान कोविड-19 को लेकर निर्धारित नियमों का पालन नहीं किया जाता है तो कठोर कार्रवाई भी की जाएगी। बहरहाल कोरोना संक्रमण काल की छाया से अन्य त्यौहार के साथ ही राखी भी अछूती नहीं है। पर्व जहां तमाम पाबंदियों के साथ मनाया जाएगा तो बहन अपने भाई और भाई अपनी बहनों के पास भी कम ही पहुँच पाएंगे। जिससे त्यौहारी उत्साह में भी मायूसी देखने को मिलेगी। हिन्दुस्थान समाचार / अभिषेक-hindusthansamachar.in