पांच से सात अगस्त के बीच तेज बारिश होने का पूर्वानुमान
पांच से सात अगस्त के बीच तेज बारिश होने का पूर्वानुमान
मध्य-प्रदेश

पांच से सात अगस्त के बीच तेज बारिश होने का पूर्वानुमान

news

ग्वालियर, 31 जुलाई (हि.स.)। ग्वालियर में मानसून ने इस बार लोगों को निराश किया है। इस बार मानसून अपना वह पुराना रंग नहीं दिखा रहा जैसा कि पिछले सालों में देखने को मिला था। हालत यह है कि बारिश की आस में आसमान की ओर ताकते-ताकते आंखें थक चुकी हैं, लेकिन बादल हैं कि बरसने को राजी नहीं हैं। हालांकि मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के दौरान जहां मध्यम गति से बारिश की उम्मीद जताई है तो वहीं पांच से सात अगस्त के बीच तेज बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है। ग्वालियर शहर में एक जून से अब तक 197.2 मिली मीटर ही बारिश हुई है, जबकि इससे लगभग दोगुनी बारिश होना चाहिए थी। हालांकि बादल आए दिन घुमड़ रहे हैं, लेकिन पसीज नहीं रहे। शुक्रवार को भी दोपहर बाद घने बादल छाए रहे, जो शाम करीब पौने पांच बजे छुटपुट बूंदाबांदी करके शांत हो गए। भोपाल के सेवानिवृत्त मुख्य मौसम विज्ञानी डी.पी. दुबे ने बताया कि मानसूनी द्रोणिका अब सामान्य स्थिति में आ गई है, जिससे अब मानसूनी गतिविधियां तेज होंगी। इसके चलते अगले 24 घंटे के दौरान ग्वालियर-चम्बल अंचल में कहीं मध्यम गति से तो कहीं हल्की बारिश होने की संभावना है। उन्होंने बताया कि आगामी चार अगस्त को बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनेगा, जिसके असर से मध्य भारत में अच्छी बारिश होने की उम्मीद है। इस सिस्टम का प्रभाव ग्वालियर-चम्बल में भी नजर आएगा और पांच से सात सितम्बर तक अच्छी बारिश हो सकती है। इससे पहले मानसूनी द्रोणिका के प्रभाव से भी हल्की-फुल्की बारिश होती रहेगी। स्थानीय मौसम विज्ञान केन्द्र के अनुसार शुक्रवार को अधिकतम तापमान 35.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो औसत से 2.6 डिग्री सेल्सियस अधिक है, जबकि न्यूनतम तापमान 28.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह भी औसत से 2.4 डिग्री सेल्सियस अधिक है। आज सुबह हवा में नमी 83 प्रतिशत दर्ज की गई, जो सामान्य से चार प्रतिशत अधिक है, जबकि शाम को हवा में नमी 74 प्रतिशत दर्ज की गई। यह भी सामान्य से तीन प्रतिशत अधिक है। हिन्दुस्थान समाचार/शरद शर्मा/राजू-hindusthansamachar.in